थाने पहुंचकर महिला ने कहा साहब हमें बचा लो, अगले दिन रेलवे कर्मी पति के घर फंदे पर लटके मिली पत्नी की लाश

रेलवे लोको पायलट पति से प्रताडि़त पत्नी ने शनिवार को सुबह कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया।

By: Dakshi Sahu

Published: 18 Oct 2020, 11:23 AM IST

भिलाई. रेलवे लोको पायलट पति से प्रताडि़त पत्नी ने शनिवार को सुबह कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची। मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया। विवाहिता ने एक दिन पहले ही पति अशोक चौहान, ससुर छांगुर चौहान और सास सुशीला देवी के खिलाफ मारपीट करने और जान से मारने की धमकी देने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। स्मृति नगर चौकी प्रभारी एचएन सिंह ने बताया कि शुक्रवार को सुबह 11 बजे मॉडल डाउन सड़क-10, क्वार्टर 733 निवासी शशिकला चौहान (33 वर्ष) ने पति लोको पायलट अशोक चौहान, ससुर छांगन चौहान और सास सुशीला देवी के खिलाफ शिकायत में बताया था कि उसका मायका उत्तर प्रदेश बलिया में है। वर्ष 2008 में अशोक के संग शादी हुई। कुछ महीने तक रिश्ते अच्छे रहे। इसके बाद अशोक उसे प्रतडि़त करने लगा।

Read more: पानी में डूबने की एक्टिंग कर रहे दो नाबालिग दोस्त सच में डूब गए, वाकिया देख रहा तीसरा दोस्त डरकर मौके से भागा ....

पति और सास-ससुर ने मिलकर किया था मारपीट
परेशान होकर शशिकला ने उत्तर प्रदेश फैमिली कोर्ट में शिकायत की। दोनों में समझौता हुआ। कोर्ट ने गुजारा भत्ता 10 हजार रुपए हर माह देने निर्देशित किया। शशिकला मायके में ही रहने लगी। करीब 3 माह पहले ही वह भिलाई पति अशोक के घर आई थी। पति अशोक चौहान के पिता और मां ने मिलकर उसके साथ मारपीट की। शशिकला की शिकायत पर पति अशोक और सास ससुर के खिलाफ धारा 294, 323, 506 बी, 34 के तहत जुर्म दर्ज किया।

पुलिस ने पति, सास और ससुर को समझाइश देकर भेजा
पुलिस ने बताया कि शुक्रवार को सुबह 9.30 बजे सूचना मिली। शशिकला का पति अशोक चौहान रेलवे ड्यूटी कर 9 बजे घर आया। प्रथम मामले में रह रही अपनी पत्नी के कमरे गया। पर्दा हटाकर देखा तो वह पंखे पर झूल गई थी। मौका मुआयना किया गया। लेकिन घटना स्थल से कोई सुसाइडल नोट नहीं मिला है।

पुलिस को बताया था कि पति और सास ससुर ने घसीट कर मारा था
शशिकला पति अशोक की प्रताडऩा को भुलाकर नए सिरे से जीवन जीने के लिए मायके से पति के घर आ गई। तीन माह तक उसके साथ रही, लेकिन पति के रवैये में बदलाव नहीं आया। शनिवार को जब अशोक और उसके मां-पिता ने उसे घसीट-घसीट कर मारा तब वह मदद की गुहार लेकर पुलिस के दरवाजे पर पहुंची। पुलिस के सामने मिन्नतें की। कहा साहब वो लोग हमें मार देंगे। पुलिस ने भरोसा तो दिलाया लेकिन घर पहुंची और मौत को गले में लगा लिया।

घर में बनता था अलग खाना
पुलिस ने बताया कि अशोक और उसके माता पिता नीचे रहते थे। शशिकला को रहने के लिए प्रथम माले में किचन अटैच कमरा दिया गया था। जहां वह अकेली रहती थी। दोनों का अलग-अलग खाना बनता था।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned