दिवाली के दिन मां से मिलकर घर लौट रहे युवक की 1500 रुपए के लिए हत्या, लूट का विरोध करने पर चाकू से गोदा

दिवाली के दिन महज 1500 रुपए लूटने के लिए भिलाई के नंदिनी रोड में एक युवक की हत्या का मामला सामने आया है। पुलिस ने हत्या करने वाले वाले आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 17 Nov 2020, 02:03 PM IST

भिलाई. दिवाली के दिन महज 1500 रुपए लूटने के लिए भिलाई के नंदिनी रोड में एक युवक की हत्या का मामला सामने आया है। पुलिस ने हत्या करने वाले वाले आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया है। दिवाली के दिन ईएसडब्लू क्वार्टर हाउसिंग बोर्ड जामुल में मां से मिलने के बाद प्रसाद लेकर युवक सेक्टर-1 पत्नी और बच्चों के पास जा रहा था। नंदिनी रोड परी एक लुटेरे ने रात करीब 10 बजे उसे रोक लिया। चाकू की नोक पर उसके जेब से 1500 रुपए लूट लिए। जब युवक ने विरोध किया तो चाकू से दो बार वार कर उसकी निर्मम हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी जी तरुण को गिरफ्तार किया है। आरोपी की शर्ट में खून के दाग लगे मिले हैं। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 302 के तहत जुर्म दर्ज कर कार्रवाई की। जी तरूण मोबाइल चोरी और छिनतई की कई वारदातों को अंजाम दे चुका है।

छावनी टीआई गोपाल वैश्य ने बताया कि दीपावली की रात 10 बजे की घटना है। नंदनी रोड आदिनाथ सेल्स एजेंसी के पास रोड किनारे अमित कारला (45 वर्ष) नामक युवक औंधे मुंह पड़ा था। जब उसे सीधा किया गया तो दाएं तरफ सीना और बाएं तरफ पेट में गहरी चोट लगी थी। उसे तत्काल सुपेला लाल बहादुर शास्त्री शासकीय अस्पताल ले जाया गया। वहां डॉक्टरों ने मृत बता दिया।

1500 रुपए लूटने के बाद कर दी हत्या, आरोपी गिरफ्तार
पुलिस ने बताया कि घटना की जानकारी मिलते ही तत्काल टीम गठित की। आस-पास पतासाजी की गई। सीसीटीवी कैमरे को खंगाला गया। आरोपी संदेही तक पहुंच गए। नंदिनी रोड देना बैंक के पीछे स्वीपर मोहल्ला निवासी आरोपी जी तरुण को गिरफ्तार किया। जी तरुण जब अमित कालरा से मारपीट कर रहा था, कुछ लोगों ने उसे देखा भी था। पूछताछ के बाद आरोपी ने हत्या की वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया।

सड़क दुर्घटना में अमित के घायल होने की जानकारी
पुलिस ने बताया कि सेक्टर 11, स्ट्रीट एवेन्यु-ए निवासी आशा (65) ने शिकायत की है कि उसका भांजा अमित कारला अपनी मां निर्मला के साथ ईएसडब्लू क्वार्टर हाउसिंग बोर्ड जामुल में रहता था। उसकी पत्नी सेक्टर -1 में किराए के क्वार्टर में रहती है। अमित ऑटो से मां के यहां आना-जाना करता था। आशा को तब पता चला जब आगरा से शेखर ने फोन कर बताया कि पुलिस ने जानकारी दी है कि अमित की दुर्घटना हो गई है। आशा ने पुलिस को बताया कि उसकी दुर्घटना नहीं हुई है, उसकी धारदार हथियार से हत्या की गई है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned