scriptZero result of schools, Durg collector took a meeting of principals | तिमाही परीक्षा में स्कूलों का जीरो रिजल्ट, कलेक्टर ने ली प्राचार्यों की क्लास, कहा कोरोना से हुआ लर्निंग लास, करनी होगी इमानदार कोशिश | Patrika News

तिमाही परीक्षा में स्कूलों का जीरो रिजल्ट, कलेक्टर ने ली प्राचार्यों की क्लास, कहा कोरोना से हुआ लर्निंग लास, करनी होगी इमानदार कोशिश

तिमाही में आए खराब रिजल्ट की समीक्षा के बाद हुई इस बैठक में उन्होंने प्राचार्यो को अलग ढंग से समझाया। उन्होंने कहा कि कोई ट्वेंटी-ट्वेंटी मैच है और काफी ओवर निकल चुके हैं।

भिलाई

Published: November 02, 2021 05:43:05 pm

भिलाई. कोरोना की वजह से ऑफलाइन पढ़ाई प्रभावित होने के चलते बच्चों में लर्निंग लास देखा गया है। अब आफलाइन कक्षाएं आरंभ हो गई हैं लेकिन समय सीमित बचा है, इसलिए अतिरिक्त पढ़ाई कराकर बच्चों की कमजोरियों को पूरी तरह दूर करना है। यह बातें दुर्ग कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने प्राचार्यों की बैठक में कही। तिमाही में आए खराब रिजल्ट की समीक्षा के बाद हुई इस बैठक में उन्होंने प्राचार्यो को अलग ढंग से समझाया। उन्होंने कहा कि कोई ट्वेंटी-ट्वेंटी मैच है और काफी ओवर निकल चुके हैं। अब रन रेट मेंटेन करना है तो स्लाग ओवर्स में अच्छा स्कोर करना होगा तभी प्रदर्शन बेहतर हो पाएगा। यही बात आपके लिए भी लागू होती है। आप अपने स्कूल के कैप्टन की तरह हैं, आपके ऊपर बच्चों के बेहतरीन प्रदर्शन की बड़ी जिम्मेदारी है। कोरोना की वजह से लर्निंग लास हुए हैं। आप इसे ठीक करने के लिए कार्ययोजना बनाइए और इसे क्रियान्वित कीजिए।
तिमाही परीक्षा में स्कूलों का जीरो रिजल्ट, कलेक्टर ने ली प्राचार्यों की क्लास, कहा कोरोना से हुआ लर्निंग लास, करनी होगी इमानदार कोशिश
तिमाही परीक्षा में स्कूलों का जीरो रिजल्ट, कलेक्टर ने ली प्राचार्यों की क्लास, कहा कोरोना से हुआ लर्निंग लास, करनी होगी इमानदार कोशिश
टीचर्स का प्रोफेशन नोबल
कलेक्टर ने कहा कि शिक्षक का प्रोफेशन नोबल है। लोग हमेशा अपने शिक्षकों को याद रखते हैं। उन्होंने बताया कि उनके पिता भी रिटायर्ड शिक्षक हैं और जहां भी वे उनके साथ जाते हैं तो देखते हैं कि लोग उनका सम्मान करते हैं। यह नोबल प्रोफेशन आपको कड़ी चुनौती भी देता है कि साबित करें कि आप इसके लिए पूरी तौर पर खरे उतरते हैं। आप सबके बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होनी चाहिए कि किस स्कूल का रिजल्ट सबसे बेहतर होगा? इस दौरान डीईओ प्रवास सिंह बघेल सहित अन्य अधिकारी भी मौजूद थे।
तिमाही परीक्षा में स्कूलों का जीरो रिजल्ट, कलेक्टर ने ली प्राचार्यों की क्लास, कहा कोरोना से हुआ लर्निंग लास, करनी होगी इमानदार कोशिशऑफलाइन क्लास की बराबरी नहीं
कलेक्टर डॉ. भुरे ने कहा कि उनके बच्चों ने भी आनलाइन क्लास अटेंड की, इसलिए वे समझ सकते हैं कि आफलाइन क्लास कितना कारगर है। उन्होंने कहा कि आनलाइन क्लासेज कभी आफलाइन क्लास की बराबरी नहीं कर सकती। जब बच्चों का प्रत्यक्ष संवाद शिक्षकों से होता है तो यह हमेशा कारगर होता है। हमारे जिले में कोरोना के केसेज में कमी आई है और अब हम बच्चों की आफलाइन पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान दे सकते हैं।
जो पढ़ाएं उसे बच्चे जीवन में उतारें
कलेक्टर ने कहा कि प्राचार्य अपनी विधा को सबसे अच्छी तरह से समझते हैं। कलेक्टर के नाते वे तीन चीजों की अपेक्षा करते हैं कि पहले बच्चे तेजी से पढ़ पाएं। दूसरा उन्हें समझ पाएं और तीसरा इसे अपने जीवन में अमल में लाएं।। यदि स्वच्छता का कोई पाठ है कि नाखुन साफ करना चाहिए तो इसके लाभ भी समझें और दैनंदिनी में इसे प्रैक्टिस में भी लाएं। गांधी जी या बुद्ध का कोई पाठ है तो न केवल उसे समझ पाएं अपितु उसे अमल में भी लाएं जो असल में शिक्षा का हमारा मकसद है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.