scriptमंगरोप थाने के पास से रोजाना गुजर रहे अवैध बजरी के 250 ट्रैक्टर-डंपर | मिलीभगत : बनास में खनन में नियम-कायदे दरकिनार | Patrika News
भीलवाड़ा

मंगरोप थाने के पास से रोजाना गुजर रहे अवैध बजरी के 250 ट्रैक्टर-डंपर

मिलीभगत : बनास में खनन में नियम-कायदे दरकिनार

भीलवाड़ाJul 09, 2024 / 11:41 am

Suresh Jain

मिलीभगत : बनास में खनन में नियम-कायदे दरकिनार

मिलीभगत : बनास में खनन में नियम-कायदे दरकिनार

भीलवाड़ा जिले में बजरी का अवैध खनन व परिवहन हो रहा है। इसकी जानकारी अधिकारियों को होने के बावजूद कार्रवाई नहीं की जा रही है। लिहाजा बजरी माफिया बनास नदी को छलनी कर रहे हैं।
राजस्थान पत्रिका की टीम सोमवार सुबह साढ़े पांच बजे मंगरोप थाने के सामने पहुंची तो वहां नदी में अवैध खनन हो रहा था। बजरी के ट्रैक्टर भरे जा रहे थे। थोड़ा आगे कचोलिया गांव में फोकलेन से डंपर में बजरी भरी जा रही थी। नदी में जगह-जगह बजरी के ढेर लगे थे। मंगरोप थाने के पास से अवैध बजरी की ट्रैक्टर ट्रॉली गुजर रही थी। खास बात है इनकी निगरानी के लिए थाने के सामने चाय की केबिन पर एक पुलिसकर्मी हर समय तैनात रहता है, जो किसी भी संदिग्ध व्यक्ति को देखते ही अधिकारी को सूचना देता है।
इस घटना की जानकारी पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत को दी तो उन्होंने कलक्टर के जरिए खनिज विभाग व पुलिस की टीम बनाकर मौके पर भेजी। राजस्व विभाग से अधिकारी व कर्मचारी इसमें नहीं था। खनिज अभियन्ताचंदनकुमार ने बताया कि विभाग से फोरमैन ओमप्रकाश आगाल व मंगनाराम मिश्रा मौके पर पहुंचे। बनास नदी व कचोलिया के पास करीब 600 टन बजरी के ढेर बनास नदी में वापस डलवाए। टीम ने एक भी बजरी भरी ट्रैक्टर ट्रॉली व डंपर नहीं पकड़ा। थाने के आसपास रोजाना करीब 200 ट्रैक्टर व 50 डंपर बजरी के गुजरते हैं।
होगी कार्रवाई

मंगरोप क्षेत्र में अवैध बजरी का दोहन होने की सूचना मिलने पर मुख्यालय से पुलिस की टीम मौके पर भेजी। जहां पर 700 से 800 टन बजरी के ढेर लगे थे, उन्हें नष्ट किया गया। आगे भी कार्यवाही को जारी रखा जाएगा।
राजन दुष्यंत पुलिस अधीक्षक, भीलवाड़ा

Hindi News/ Bhilwara / मंगरोप थाने के पास से रोजाना गुजर रहे अवैध बजरी के 250 ट्रैक्टर-डंपर

ट्रेंडिंग वीडियो