कोरोनाकाल में 474 माताओं ने मदर मिल्क बैंक में नहीं आने दी दूध की कमी

20 फरवरी 2017 से 19 जून 2021 तक 4334 बच्चों को उपलब्ध कराया दूध

By: Suresh Jain

Published: 22 Jun 2021, 09:40 AM IST

भीलवाड़ा।
कोरोना की दूसरी लहर में शहर के सभी प्रमुख ब्लड बैंकों में खून की कमी भले हो गई लेकिन जिला अस्पताल में फरवरी 2017 से खुले मदर मिल्क बैंक में माताओं ने बच्चों के लिए दूध की कमी नहीं होने दी। इस मिल्क बैंक से अब तक 4,334 बच्चों को मां का दूध मिला है। कोरोना काल में जनवरी से 19 जून के दौरान 387 बच्चों को यहां से दूध मिला। इस दौरान गर्भवती या प्रसूता भी संक्रमित हुई। इससे दूध की मांग ज्यादा रही। लेकिन डोनर की संख्या नहीं घटी। मदर मिल्क बैंक की मैनेजर रोशनीन जॉसेफ ने बताया कि 20 फरवरी 2017 से अब तक 5943 माताओं ने दूध दान किया। यानी हर साल 1400 से अधिक ने दूध दान किया। कोरोना काल में जनवरी से 19 जून तक 474 माताओं ने दूध दान किया। कोरोना काल में दात्री माताओं की कमी आई लेकिन बैंक में दूध की कमी नहीं रही।
----
संक्रमित फैला पर बैंक बंद नहीं किया
कोरोना में बैंक के कुछ कर्मचारी कोरोना की चपेट में आया था, लेकिन एक साथ कोई भी नहीं आने से मदर मिल्क बैंक कभी भी बंद नहीं रहा है। जॉसेफ भी संक्रमित हुई थी, लेकिन अन्य कार्मिकों ने मदर मिल्क बैंक में लगातार काम चलता रहा है। यहां बैंक की प्रभारी डॉ. सरिता काबरा ने बताया कि यहां आने वाली माताओं को कोई परेशानी नहीं आने दी। स्टाफ मैनेजर प्रेम जाट, कार्यालय प्रभारी रोशनीन जॉसेफ, डोनर रूम प्रभारी लक्ष्मी विश्नोई, काउंसलर मीना सांसी, वार्ड लेडी सरोज व्यास व बाली देवी छीपा ने कोरोना काल में माताओं को दूध दान को प्रेरित करती रही।
-----------
फैक्ट फाइल
5,943 माताएं पंजीकृत
11,880 बार माताओं ने किया दूध दान
12,51,285 मिलीलीटर दूध दान किया
4334 बच्चे पंजीकृत
38,248 यूनिट बच्चों को दूधदान किया
1600 यूनिट दूध अजमेर जेएलएन में भेजा
391 यूनिट दूध अभी मदक मिल्क बैंक में है जमा
--------------
जनवरी 2021 से 19 जून तक की स्थिति
474 माताएं पंजीकृत
10,860 मिली लीटर दूध दान किया
387 बच्चों को दूध मिलाया
3672 मिली लीटर दूध बच्चों को दिया
1038 अन्य बच्चों को भी दूध पिलाया
1404 सर्विंग माताएं
4427 अन्य माताएं जो दूध दान को आती

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned