5 क्वाइंटाइन वार्ड तैयार, 20 होटल, रिसॉर्ट व हॉस्टल अधिग्रहित

कोरोना वायरस के संक्रमण पर नियंत्रण के लिए युध्दस्तर पर तैयारियां

भीलवाड़ा।
Korana virus infection कोराना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए जिला प्रशासन ने त्वरित और व्यापक स्तर पर पर तैयारियां कर ली हैं। इसके लिए कलक्टर कार्यालय के कमरा नं 3 में वार रुम बनाया गया है और 6 हजार बेड क्वाइंटाइन की व्यवस्था की है।
Korana virus infection जिला कलक्टर राजेन्द्र भट्ट ने बताया कि अतिरिक्त जिला कलक्टर शहर नरेन्द्र जैन को वार रुम का प्रभारी नियुक्त किया है। वार रुम 24 घंटे कार्यरत रहेगा 8-8 घंटे की तीन पारियों में अधिकारी कर्मचारी ड्यूटी देंगे। वार रुम का टेलीफोन 01482.232607 है। एक रिजर्व टीम भी गठित की गई है जो सुबह 9.30 बजे से सायं 6 बजे तक कार्य करेगी।
जिला कलक्टर कार्यालय में नियंत्रण कक्ष पहले से ही कार्यरत है। नियंत्रण कक्ष भी 24 घंटे कार्यरत है। जिसके टेलीफोन 01482 233030 तथा 232626 है। इसके अलावा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में भी नियंत्रण कक्ष 01482-232643 पहले से कार्यरत है। शहर में सामुदायिक भवन रमा विहार में 30 बेड, पटेल नगर व सांगानेर के सामुदायिक भवन में 25-25 बेड, पॉलोटेक्निक महाविद्यालय में 100 बेड तथा सुभाषनगर के लायंस क्लब हॉस्पिटल में 15 बेड के क्वाइंटाइन सेंटर स्थापित किए है।
सेम्पल लेकर क्वाइंटाइन में रखने के निर्देश
जिला कलक्टर ने बांगड़ अस्पताल के स्टाफ के उन लोगों के भी सेम्पल लेकर क्वाइंटाइन में रखने को कहा है जिनके अभी तक सेम्पल नहीं लिए गए हैं। साथ ही अस्पताल के आईसीयू में भर्ती रहे 95 लोगों के भी अनिवार्यत: नमूना परीक्षण करवाने एवं परिणाम आने तक क्वाइंटाइन में रखने के निर्देश दिए। अभी तक संक्रमित पाये गए सभी रोगियों के परिजनों एवं निकट सम्पर्कितों के सेम्पल टेस्ट किए जा चुके हैं। जिला कलक्टर ने चिकित्सा विभाग को यह भी निर्देश दिए कि वे अपने यहां प्रतिदिन 250 नमूने लेने की व्यवस्था करें और अतिरिक्त संसाधन प्राप्त होने पर इसे और बढ़ाएं। ऐसा करके वायरस के संक्रमण की चैन पर जल्दी ब्रेक लगाया जा सकेगा। जिले में लक्ष्य के अनुसार 6 हजार क्वाइंटाइन बेड की व्यवस्था की गई है जिनमें सबके लिए अलग-अलग लेट-बाथ की व्यवस्था हैं।
20 परिसर अधिग्रहित
जिला कलक्टर ने आदेश जारी कर शहर के राजकीय एवं निजी संस्थाओं के 11 हास्टल तथा 9 होटल व रिसॉट्र्स को उपलब्ध समस्त संसाधनों व सुविधाओं सहित तत्काल प्रभाव से अधिग्रहित कर आगामी आदेश तक मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को सुपुर्द कर दिया है। इनमें माणिक्यलाल वर्मा राजकीय महाविद्यालय, महाराणा कुम्भा हॉस्टल, मयूर हॉस्टल, नोबल इंटरनेशनल स्कूल, जी स्कूल, संगम स्कूल आफ एक्सीलेंस, महिला आश्रम स्कूल, मीणा हॉस्टल, धाकड़ हॉस्टल, महेश छात्रावास तथा अग्रवाल मांगलिक भवन के अलावा होटल ग्लोरिया इन, श्रीलोक हैरिटेज होटल, द पाम रिसोर्ट, रामेश्वरम ;हरणी महादेव रोड, अलास्का होटल, आशिका पार्क रिसोर्ट, होटल रेडियन्स, होटल डिलाइट, गुलाब बाग आदि शामिल है। सभी क्वाइंटाइन सेंटर के लिए जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को प्रभारी व राजेश सुवालका सहायक कलकटर को सहायक प्रभारी बनाया गया है।

शहर में बुधवार को 81 हजार का सर्वे
चिकित्सा विभाग की ओर से शहर में द्वितीय चरण प्रारम्भ करते हुए 274 टीमों के माध्यम से बुधवार को 18 हजार 581 परिवारों के 81 हजार 258 लोगों को सर्वे किया गया। इनमें से 392 सामान्य सर्दी जुकाम के रोगियों को घर में ही रहकर नियमानुसार स्वच्छता के निर्देशों की पालना हेतु कहा गया। बुधवार को किए गए सर्वे में अधिकांश परिवारों का दूसरी बार सर्वे किया गया है।

ग्रामीण क्षेत्र में अब तक साढ़े 18 लाख लोगों का सर्व
जिले में जमीनी स्तर पर स्क्रीनिंग के लिए लगाई गई 1948 टीमों ने अब तक कुल 3 लाख 62 हजार 833 परिवारों तक पहुंच कर 18 लाख 55 हजार 44 लोगों के स्वास्थ्य के बारे में सर्वे कर लिया है। इनमें 11 हजारए 172 लोग सामान्य सर्दी जुकाम से पीड़ित पाये गये जिन्हे नियमानुसार स्वच्छता बरतने और घर में ही रहने की सलाह दी गई है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned