आचार्य विद्यासागर का 52 वा दीक्षा जयंती पर्व मनाया

कल्पद्रुम का चौथा वार्षिकोत्सव पर अभिषेक

By: Suresh Jain

Published: 07 Jul 2019, 04:12 PM IST

भीलवाड़ा।
आमलियों की बारी स्थित दिगंबर जैन चतुर्मुखी पारसनाथ कल्पद्रुम बड़े मंदिर में महावीर स्वामी का गर्भ कल्याणक, आचार्य विद्यासागर का 52 वा दीक्षा जयंती समारोह एवं कल्पद्रुम का चतुर्थ वार्षिकोत्सव हर्षोल्लास व भक्ति भाव से मनाया।
प्रवक्ता पवन अजमेरा ने बताया कि रविवार सुबह सात बजे कार्यक्रम का शुभारम्भ मंगलाष्टक से हुआ। तत्पश्चात अभिषेक व शांति धारा की गई। महावीर भगवान की अष्टधातु की प्रतिमा को पदम अजमेरा ने गंधकुटी पर विराजमान की गई। बाद में सभी श्रावकों ने अष्टधातु एवं चतुर्मुखी पारसनाथ भगवान पर अभिषेक व शांति धारा की गई। भगवान महावीर की शांतिधारा महावीर, शिखर, पीयूस अजमेरा, नरेश, प्रदीप, प्रमोद, लुहाडिय़ा एवं चतुर्मुखी पारसनाथ भगवान पर आजार दारान दिगंबर जैन मंदिर के अशोक, पीयूष भैंसों ने किया। इससे पूर्व अशोक सेठी ने ऊॅ का उच्चारण कराया। इससे पूरा मंदिर ऊॅ की ध्वनि से गुंजायमान हो गया। अजमेरा ने बताया कि इस दौरान आचार्य विद्यासागर का दीक्षा दिवस मनाया गया। ऐसे परम तपस्वी गुरुवर की तप और त्याग के बारे में जो भी जानता है वह उनका भक्त बन जाता है। मैनेजिंग ट्रस्टी प्रद्युमन अजमेरा ने बताया कि इस कार्यक्रम में लोकेश लुहाडिय़ा, पवन कोठारी, प्रवीण अजमेरा, कमल गदिया, पवन सेठिया, कैलाश, निर्मल सोनी, सुरेश पाटनी आदि उपस्थित थे। अजमेरा ने बताया कि सोमवार को नेमिनाथ भगवान का मोक्ष कल्याणक मनाया जाएगा एवं निर्माण लड्डू चढ़ाए जाएंगे।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned