63 हजार विद्यार्थियों को इंतजार अपने भविष्य का

नए फॉर्मूले से तैयार हो रहा नतीजा

By: Suresh Jain

Published: 21 Jul 2021, 08:27 AM IST

भीलवाड़ा।
जिले के 63.305विद्यार्थियों को अब माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से जारी किए जाने वाले परीक्षा परिणाम का इंतजार है। कोरोना के कारण यह परिणाम नए फॉर्मूले के तहत जारी होंगे। इसे लेकर विद्यार्थियों में उत्साह है और बेहतर अंक आने की उम्मीद है। हालांकि कुछ विद्यार्थियों में निराशा भी है।
बोर्ड १0वीं तथा 12वीं का परिणाम फॉर्मूले के आधार पर जारी किया जाएगा। जिले के विद्यालयों ने अंतिम रूप देते हुए परिणाम बोर्ड की वेबसाइट पर भेज दिया है। जहां से जल्द जारी किया जाएगा। दो वर्षों की परिणाम को आधार बनाया गया है। 10वीं का परीक्षा परिणाम आठवीं और नवीं तथा 12वीं का परिणाम 10वीं व 11वीं में प्रदर्शन के आधार पर जारी होगा। विभिन्न विषयों के अंकों के निर्धारण के लिए विद्यालय स्तर पर अंक निर्धारण समिति बनाई गई है। इसमें संस्था प्रधान अध्यक्ष, कक्षा अध्यापक तथा विषयाध्यापक कराने वाले शिक्षक सदस्य हैं।
असंतुष्टों परीक्षा का मौका
परिणाम से असंतुष्ट को बोर्ड परीक्षा देने का मौका देगा। इसके लिए वैकल्पिक परीक्षा का ऑनलाइन पंजीकरण कराया जाएगा तथा उसके अंकों को अंतिम परिणाम के रूप में माना जाएगा। इसके मुताबिक 45 दिन में परिणाम जारी किया जाएगा। बोर्ड ने प्रायोगिक परीक्षा जल्द कराने के निर्देश दिए थे। इसमें 10-10 विद्यार्थियों के समूह बना विद्यालय स्तर पर परीक्षा की स्वीकृति दी गई। परीक्षक परीक्षा के 24 घंटे में प्राप्तांक निश्चित रूप से ऑनलाइन करेंगे। जिनकी पूर्व में प्रायोगिक परीक्षाएं हो गई लेकिन बोर्ड को पूर्व में किसी कारण विद्यार्थियों के प्राप्तांक ऑनलाइन अपलोड नहीं किए थे। ऐसे विद्यालयों को भी प्राप्तांक शीघ्र ऑनलाइन करने के निर्देश दिए हैं। जो विद्यार्थी विद्यालय की प्रायोगिक परीक्षा में किसी कारण से सम्मिलित नहीं हुआ,उनकी परीक्षा उसी विद्यालय में तय अवधि में कराकर अंक ऑनलाइन किए जाने हैं।
मालूम हो, 10वीं में ३८,५९५ व 12वीं में २४,७१० विद्यार्थी पंजीकृत है। परिणाम की विद्यार्थी तथा अभिभावक घर बैठे तय फॉर्मूले के अनुसार गणना भी कर रहे हैं।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned