18 प्लस के 7.90 लाख लोग अब भी कतार में

पिछले 14 दिन डोज के अभाव में टीकाकरण बाधित
जिले में फिलहाल 3.50 लाख लोग कतार में
जिले में 3.11 लाख लोगों ने लगवाया कोरोना टीका

By: Suresh Jain

Updated: 12 Jul 2021, 07:52 AM IST

भीलवाड़ा।
जिले में अब तक कुल ९.१८ लाख लोगों को कोरोना टीका लगाया जा चुका है। इसमें 45 प्लस वर्ग के ४ लाख २५ हजार ७२७ लोगों के पहली डोज टीका लगाया गया है। जबकि १ लाख ४४९६ लोग ऐसे भी हैं जो दूसरा टीका लगवा चुके हैं। जबकि १८ प्लस वाले २८ फीसदी लोगों के ही प्रथम डोज लग पाई है। ऐसे में अभी तक ७ लाख ९० हजार लोग कतार में है। दूसरी ओर जुलाई माह में महज चार दिन ही टीकाकरण हो सका है। जबकि छह दिन डोज के अभाव में टीकाकरण का कार्य ठप रहा। एक मई से लेकर १२ जुलाई के बीच में १५ दिन टीकाकारण का काम पूरी तरह से ठप रहा है। शनिवार को भी टीके नहीं लगाए जा सके। जिले में कुल लक्ष्य 1६ लाख 65 हजार के मुकाबले ९ लाख लोगों ने प्रथम डोज लगवा ली। 45 साल से अधिक उम्र वाले अधिकतर लोगों को कम से कम पहला टीका लग चुका है। कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका जताई जा रही है। कुछ राज्यों में मरीज बढऩे भी लगे हैं इस कारण सतर्कता बढ़ाई गई है। उल्लेखनीय है कि जिले में 16 जनवरी से मंगल टीके की शुरुआत हुई थी।
१० में से ६ दिन टीकाकरण ठप, नहीं तो डेढ़ लाख लोगों को मिल जाता सुरक्षा कवच
जिले में पिछले १० दिनों से टीकाकरण का कार्य चार दिन ही हो सका है। जबकि छह दिन बाधित रहा। चिकित्साकर्मियों का कहना कि अभियान जारी रहता तो छह दिन में करीब डेढ़ एक लाख लोगों को सुरक्षा कवच मिल जाता। विभाग के मुताबिक 18 से 44 आयु वाले वर्ग में ३ लाख ११ हजार ३७१ लोगों के प्रथम डोज लग गई है। यानि की उन्हें २८ फीसदी डोज लग गई। इसके बावजूद ७.९० लाख लोग टीका लगवाने के लिए कतार में हैं। यदि रोजाना २5 हजार टीके के औसत से काम किया जाता है, तो इस कैटेगरी के लोगों को सवा महीने में टीका लग जाएगा। इसके लिए राज्य व केंद्र से भी लगातार आपूर्ति होनी चाहिए।
18 प्लस को टीका लगाने का कार्य जिले में १ मई से शुरू
18 प्लस कैटेगरी के लोगों का टीकाकरण १ मई से शुरू हुआ है। इस कैटेगरी के लिए टीका राज्य सरकार प्रदान कर रही थी, लेकिन बाद में केंद्र सरकार ने सभी को टीका लगाने की घोषणा की और 21 जून से पूरे देश में टीकाकरण महाभियान के साथ काम शुरू किया।
जुलाई में चार दिन मिली डोज
टीकाकरण महाभियान की स्थिति में जून माह में बीच बीच में टीके मिलते रहे। हालांकि जुलाई में भी ३, ४, ५ व ८ जुलाई को जिले को डोज मिली। इससे पहले व बाद में ८ दिन टीकाकरण कार्य बाधित रहा। इससे पहले मई माह में २ व २३ को वैक्सीन नहीं लगी। जबकि जून में १३, २३, २४, २६ तथा ३० जून को टीकाकरण नहीं हो सका। हालांकि वैक्सीन कम मिलने से चिकित्सा विभाग ने भी अपनी टीका लगाने की क्षमता से ४० प्रतिशत काम भी नहीं किया। टीका नहीं लगने के कारण जिले को टीके की पर्याप्त व लगातार आपूर्ति नहीं कर पाना है।
३.५० लाख डोज की आवश्यकता
जिले में जुलाई माह में कम से कम ३.५० लाख डोज की आवश्यकता है। इसकी सरकार से मांग भी की है। लेकिन डोज नहीं मिल रही है। संभावना है कि रविवार को कुछ डोज मिल सकती है। ऐसे में सोमवार को ही फिर से टीकाकरण अभियान शुरू किया जा सकेगा।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned