बीकानेर से आने लगा मिलावटी मावा

निजी वाहनों में सवारियों से अधिक माल

By: Suresh Jain

Updated: 27 Oct 2020, 10:34 AM IST

सुरेश जैन
भीलवाड़ा।
त्यौहारी सीजन को देखते हुए जिले में मिठाई का कारोबार फिर जोर पकड़ने लगा है। मांग को देखते हुए बाजार में मिलावटी और निम्न गुणवत्ता का माल भी बाजार में आने लगा है। नवरात्र खत्म होने के साथ ही बीकानेर से निजी बसों में मिलावटी मावा भी आने लगा है। इन बसों में यात्री कम और मावा ज्यादा आ रहा है। यह बसें शहर के हर चौराहे पर मावा उतारती नजर आ रही है। यह बिना बिना अनुमति और रोकटोक के आ रहा है।
राज्य सरकार के निर्देशानुसार सोमवार से जिले में शुद्ध के लिए युद्ध अभियान शुरू किया गया है। यदि जिम्मेदार अधिकारी बीकानेर से अवैध रूप से परिवहन कर लाए जा रहे मावा की जांच दुकानों में पहुंचने से पहल कर लें तो मिठाइयों में मिलावट के कारोबार पर 70 प्रतिशत तक रोक लगाई जा सकती है।
चिकित्सा मंत्री ने शुद्ध के लिए युद्ध अभियान को प्रभावी ढंग से लागू करने के निर्देश दिए है। मिलावटी पदार्थ की सही सूचना देने वालों को 51 हजार रुपए की पुरस्कार राशि देने की घोषणा भी की है।
समय पर हो नमूनों की जांच
इस बार शुद्ध के लिए युद्ध अभियान को सफल बनाने के लिए खाद्य सुरक्षा अधिकारी के साथ जांच दल में तहसीलदार, नायब तहसीलदार और विकास अधिकारी को टीम लीडर बनाया गया है। साथ ही विधिक माप विज्ञान अधिकारी, संबंधित पुलिस थाना के उप निरीक्षक, रसद विभाग के प्रवर्तन निरीक्षक या प्रवर्तन अधिकारी तथा डेयरी के प्रतिनिधि को शामिल किया गया है। पहले जिले में एक ही अधिकारी के कंधों पर यह जिम्मेदारी थी। टीमें जो भी नमूने ले, उसकी जांच रिपोर्ट सही समय पर आनी चाहिए। जिले में लिए गए नमूने की जांच अजमेर स्थित प्रयोगशाला में होती है, वहां से जांच रिपोर्ट आने में काफी समय लग जाता है, ऐसे इस कार्रवाई को कोई मतलब नहीं रह जाता।
सख्त कार्रवाई करेंगे
राज्य सरकार के निर्देशानुसार शुद्ध के लिए युद्ध अभियान में मिलावटखोरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। त्योहारी सीजन में मिठाइयों व अन्य खाद्य पदार्थों में होने वाली मिलावट को रोकने के लिए खुफिया तंत्र से भी नजर रखी जा रखी जा रही है।-
डॉ. मुस्ताक खान, सीएमएचओ

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned