scriptAfter all, the administration also saw illegal mining in Pansal | आखिर प्रशासन को भी दिख गया पांसल की डांग व दरीबा में अवैध खनन | Patrika News

आखिर प्रशासन को भी दिख गया पांसल की डांग व दरीबा में अवैध खनन

एसडीएम पहुंचे मौके पर, एक एलएनटी व दो टै्रक्टर जब्त
प्रशासन ने माना-यहां होता है अवैध खनन
पत्रिका में समाचार प्रकाशन के बाद अधिकांश अवैध खदानों में रहा सन्नाटा

भीलवाड़ा

Published: August 14, 2021 09:33:43 am

भीलवाड़ा .
पांसल की डांग, समोड़ी व दरीबा में चुनाई पत्थर का अवैध खनन आखिर शुक्रवार को प्रशासन को भी नजर आ गया। भीलवाड़ा तहसील में अवैध खनन को लेकर जिला कलक्टर शिवप्रसाद एम नकाते के निर्देश पर उपखण्ड अधिकारी ओमप्रभा मय टीम मौके पर पहुंची तो अवैध खनन का पता चला। यहां बताते चले कि राजस्थान पत्रिका ने शुक्रवार के अंकमें 'मुख्यालय से महज पांच किमी दूर चल रहा अवैध खनन, महकमे को छोड़ सबको आता नजरÓ शीर्षक से प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया था। इसके बाद अधिकांश अवैध खदानों में सन्नाटा पसरा रहा। कुछ अवैध खदानों में खनन होता मिला। प्रशासन की टीम ने मौके से एक एलएनटी व दो ट्रैक्टर जब्त किए।
उपखण्ड अधिकारी ओमप्रभा ने बताया कि मौके पर कई जगह अवैध खनन पाया गया। लेकिन सभी मजदूर चौराहे पर बैठे मिले। फिर भी एक खनन क्षेत्र में जहां अपनी सीमा है, उससे अधिक क्षेत्र में खनन करते चुनाई पत्थर निकाले जा रहे है। इस क्षेत्र में अधिकांश गिट्टी क्रेशर उद्योग बंद मिले। यहां अवैध खनन के खिलाफ कार्रवाई जारी रखेंगे। एसडीएम के साथ थाना प्रभारी मुकेश वर्मा, तहसीलदार लालाराम यादव, खनिज विभाग से फोरमैन जोगाराम, रीडर निजामुद्दीन, भूअभिलेख निरक्षक मदनलाल, अरुण तिवाड़ी तथा पुलिस जाप्ता था।
दरीबा व समोड़ी में 11 खदान, गिट्टी क्रेशर उद्योग 16
खनिज विभाग के अनुसार पांसल की डांग में 7, दरीबा व समोड़ी में 2-2 खदान चुनाई पत्थर की है। लेकिन क्षेत्र में 100 से अधिक अवैध खदानें चल रही है। कुछ ने सीमा से अधिक क्षेत्र में अवैध खनन किया। अवैध खनन के चलते 16 गिट्टी क्रेशर चल रहे हैं।
यह है मामला
जिला मुख्यालय से महज पांच किलोमीटर दूर पांसल की डांग, समोड़ी व दरीबा में चुनाई पत्थर का अवैध खनन हो रहा है। यहां से प्रतिदिन 500 से अधिक टै्रक्टर व डम्पर चुनाई पत्थर निकलते हैं। पत्रिका टीम ने गुरुवार को दरीबा व समोडी खनन क्षेत्र का जायजा लिया तो कई लीज बंद मिली लेकिन आसपास अवैध खनन के लिए एलएनटी, डम्पर, व ट्रैक्टर कम्प्रेशर लगे थे। पत्रिका टीम को देखकर दर्जनों टै्रक्टर बिन पत्थर लिए इधर-उधर हो गए। एक खनन क्षेत्र में ट्रैक्टर कम्प्रेशर से ड्रील कर विस्फोट की तैयारी थी लेकिन पत्रिका टीम को देखकर चालक कम्प्रेशर को लेकर चलता बना। अन्य युवक फ्यूज वायर, ईडी व अन्य विस्फोटक सामग्री छोड़कर बाइक से भाग गया। यहीं हालात अन्य अवैध खनिज क्षेत्र के थे।
आखिर प्रशासन को भी दिख गया पांसल की डांग व दरीबा में अवैध खनन
आखिर प्रशासन को भी दिख गया पांसल की डांग व दरीबा में अवैध खनन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

India-Central Asia Summit: सुरक्षा और स्थिरता के लिए सहयोग जरूरी, भारत-मध्य एशिया समिट में बोले पीएम मोदीAir India : 69 साल बाद फिर TATA के हाथ में एयर इंडिया की कमानयूपी चुनाव से रीवा का बम टाइमर कनेक्शननागालैंड में AFSPA कानून को खत्म करने पर विचार कर रही केंद्र सरकारजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रUP Election 2022: भाजपा सरकार ने नौजवानों को सिर्फ लाठीचार्ज और बेरोजगारी का अभिशाप दिया है: अखिलेश यादवतमिलनाडु सरकार का बड़ा फैसला, खत्म होगा नाईट कर्फ्यू और 1 फरवरी से खुलेंगे सभी स्कूल और कॉलेजपीएम नरेंद्र मोदी कल करेंगे नेशनल कैडेट कॉर्प्स की रैली को संभोधित, दिल्ली के करियप्पा ग्राउंड में होगा कार्यक्रम
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.