बैंक मैनेजर की हठधर्मिता, एजीएम को देनी पड़ी दखल

अपने खाते से पैसे निकालने को चार माह से चक्कर लगा रहा था ग्राहक

By: Suresh Jain

Published: 18 Apr 2020, 09:24 AM IST

भीलवाड़ा
जिले के जहाजपुर क्षेत्र के पीपलूंद में एसबीआइ शाखा प्रबंधक के खाते से राशि देने में आनाकानी का मामला बैंक के एजीएम के पास पहुंच गया। इसके बाद शाखा प्रबंध को मामले को तुरंत निपटाने को कहा गया। उलेला निवासी भूरालाल तेली शुक्रवार को शाखा प्रबंधक अरविंद शर्मा के पास गया और राशि निकालने की बात कही। शर्मा ने एक सप्ताह बाद आने को कहा तो तेली ने बताया कि चार माह से चक्कर काट रहा है। बेटा बीमार है। इलाज कराना है। अभी चाहे थोड़ी राशि दे दो। बाकी पैसा बाद में दे देना लेकिन बैंक प्रबन्धक ने नहीं सुनी। इसके बाद पत्रिका ने तेली की मदद की और मामला एजीएम तक पहुंचाया।
पत्नी का खाता होना है ट्रांसफर
भूरालाल तेली की पत्नी मनफूल देवी का खाता एसबीआइ पीपलुंद में है। मनफूल की 24 सितंबर 2019 को मृत्यु हो गई। तब उसके खाते में ६ हजार रुपए थे। अन्य योजना के दस हजार रुपए का चेक आया तो तेली यह भी बैंक में जमा करा आया। तेली ने राशि निकालने के लिए पत्नी का मृत्यु प्रमाण पत्र व अन्य दस्तावेज भी नवम्बर २०१९ को जमा करा चुका। उसके बाद भूरालाल के नाम से नया खाता खोल दिया गया ताकि मनफूल की राशि उसमें ट्रांसफर कर सके। सारी खानापूर्ति के बाद भी शाखा प्रबंधक कहते रहे कि प्रक्रिया जारी है। पूरी होते ही भुगतान कर देंगे। इस बीच बैंक के एजीएम रामविलास मीणा को इस बारे में बताया तो उन्होंने तुरंत शर्मा को यह कार्य शनिवार तक पूरा करने के निर्देश दिए।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned