scriptBegun MLA, who came in favor of the accused, got the Gangrar SHO to pr | आरोपी के पक्ष में उतरे बेगंू विधायक, गंगरार थानेदार को लाइन हाजिर करवा थानाप्रभारी की कुर्सी पर जमे | Patrika News

आरोपी के पक्ष में उतरे बेगंू विधायक, गंगरार थानेदार को लाइन हाजिर करवा थानाप्रभारी की कुर्सी पर जमे

चित्तौडग़ढ़ जिले के गंगरार में हंगामे की स्थिति हो गई जब विवादित १०० बीघा जमीन पर चारदीवारी बनाने गए भीलवाड़ा के राठी परिवार और पूर्व एएसपी को बेगूं विधायक राजेन्द्र विधूड़ी ने रोक दिया। विधायक ने मामले में गंगरार थानाप्रभारी को लाइन हाजिर करवा दिया। इसके बाद थाने में उनकी सीट पर विधायक तीन घण्टे जमे रहे।

भीलवाड़ा

Updated: August 22, 2021 01:28:25 pm

भीलवाड़ा. चित्तौडग़ढ़ जिले के गंगरार में हंगामे की स्थिति हो गई जब विवादित १०० बीघा जमीन पर चारदीवारी बनाने गए भीलवाड़ा के राठी परिवार और पूर्व एएसपी को बेगूं विधायक राजेन्द्र विधूड़ी ने रोक दिया। विधायक ने मामले में गंगरार थानाप्रभारी को लाइन हाजिर करवा दिया। इसके बाद थाने में उनकी सीट पर विधायक तीन घण्टे जमे रहे। इस दौरान डीएसपी और तहसीलदार को साइड में बैठना पड़ा। विधायक जिसके पक्ष में गए, वह इसी जमीन को हथियाने के मामले में फर्जीवाड़ा में आरोप में गिरफ्तार होकर जेल जा चुका है। घटनाक्रम चित्तौडग़ढ़ और भीलवाड़ा में चर्चा का विषय रहा। घटनाक्रम मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रसंज्ञान में भी लाया गया। गंगरार पुलिस ने जो व्यक्ति गिरफ्तार होकर जेल गया, उसी कर रिपोर्ट पर जमीन में अनाधिकृत प्रवेश कर चार दीवारी बनाने और धमकी देने जैसी विभिन्न धाराआें में पूर्व एएसपी समेत कुछ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया।
Begun MLA, who came in favor of the accused, got the Gangrar SHO to pr
Begun MLA, who came in favor of the accused, got the Gangrar SHO to pr

जानकारी के अनुसार लाडूपुरा उर्फ लोड़ी खेड़ा (गंगरार) निवासी रतनलाल जाट ने मामला दर्ज कराया। परिवादी ने बताया कि भीलवाड़ा के राकेश राठी, पूर्व एएसपी पूरणसिंह भाटी समेत चार-पांच जने अनाधिकृत रूप से गंगरार में उसकी जमीन पर पहुंचे। वहां धमकाकर चारदीवारी बनाने लगे। जानकारी रतनलाल ने बेगूं विधायक राजेन्द्र विधूड़ी को दी। संयोगवश किसी अन्य कार्यक्रम में वहां से गुजर रहे विधूड़ी मौके पर पहुंचे। चारदीवारी बनाने से रोक दिया। वहां हंगामा खड़ा हो गया। उन्होंने बनाई बाउण्ड्री तुड़वा दिया। माहौल गरमाने पर गंगरार पुलिस पूर्व एएसपी और राकेश समेत कुछ लोगों को थाने पर लेकर पहुंची। विधायक भी थाने पहुंचे। उन्होंने तत्काल चित्तौडग़ढ़ पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र गोयल से बात की। गंगरार थानाप्रभारी शिवराज गुर्जर को लाइन हाजिर करवा दिया। विधायक थानाप्रभारी की कुर्सी पर बैठ गए। वहां पहुंचे डीएसपी कमल प्रसाद जांगिड़ और तहसीलदार नरेश गुर्जर को साइड में बैठना पड़ा। चार घण्टे थाने पर हंगामे की स्थिति रही। पुलिस ने रतनलाल की रिपोर्ट पर मामला दर्ज किया। यह मामला मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रसंज्ञान में भी लाया गया।
डेढ़ साल पहले परिवादी रतन हो चुका गिरफ्तार
डेढ़ साल पूर्व परिवादी रतनलाल ही जमीन के फर्जी कागजात बनाने और नामांतरण अपने नाम करवाने के आरोप में गिरफ्तार किया। बताया जाता है कि मामला भीलवाड़ा के प्रतिष्ठित मानसिंहका परिवार से जुड़ा हुआ है। परिवार की गंगरार में करीब सौ बीघा जमीन है। जहां किसी समय इनकी मनोहर कॉटन फैक्ट्री थी। जमीन के गंगरार तहसील में कार्यरत चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी थावरचंद मीणा ने कूटरचित दस्तावेज तैयार कर नामांतरण संख्या 1638 को फर्जी तरीके से तैयार कर तहसीलदार के फर्जी हस्ताक्षर व मुहर से मनोहर कॉटन मील का नामांतरण अपने नाम करवा लिया। इस संबंध में गंगरार के तत्कालीन तहसीलदार ओमपालसिंह चारण व राजस्व निरीक्षक उदयलाल भील ने गंगरार थाने में मामला दर्ज कराया था। गंगरार पुलिस ने 13 दिसंबर 2019 को लाडूपुरा निवासी रतनलाल पुत्र परथू जाट, गणेशपुरा निवासी उदयलाल पुत्र मोहनलाल गाडरी तथा सुवाणिया निवासी रामलाल मेनारिया को गिरफ्तार किया था। जिन्हें न्यायालय ने जेल भेजा था। इसी मामले में पुलिस ने बाद में परथू जाट, थावरचंद मीणा को भी गिरफ्तार किया था। गंगरार के तहसीलदार व कार्यवाहक उपखण्ड अधिकारी नरेश गुर्जर ने बताया कि जिस जमीन पर बाउण्ड्री बनाई जा रही थी। उस जमीन पर न्यायालय का स्थगन आदेश नहीं है।
इनका कहना है
मैं उद्घाटन करने जा रहा था। तभी विधानसभा क्षेत्र से जाट समाज के कुछ लोग आए और कहा कि उनकी जमीन पर भीलवाड़ा से आए कुछ लोग कब्जा कर रहे हैं। मैंने थानेदार व तहसीलदार को फ ोन किया। तहसीलदार मौके पर पहुंचे। बाद में मैं मौके पर पहुंचा और मौजूद लोगों से मैंने जमीन के कागज मांगे तो वे कागज नहीं दे पाए। गरीब आदमी की जमीन हड़पने की कोशिश की जा रही थी। इसका मामला एसडीएम कोर्ट में विचाराधीन है।
- राजेन्द्रसिंह विधूड़ी, विधायक बेगूं, चित्तौडग़ढ़
कोई दबाव नहीं, प्रशासनिक आधार पर तबादला

गंगरार थाना प्रभारी का तबादला किसी भी दबाव में आकर नहीं किया गया है। प्रशासनिक आधार पर ही तबादला किया है।
- राजेन्द्र प्रसाद गोयल, पुलिस अधीक्षक चित्तौडग़ढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

School Holidays in February 2022: जनवरी में खुले नहीं और फरवरी में इतने दिन की है छुट्टी, जानिए कितनी छुट्टियां हैं पूरे सालCash Limit in Bank: बैंक में ज्यादा पैसा रखें या नहीं, जानिए क्या हो सकती है दिक्कत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीइस एक्ट्रेस को किस करने पर घबरा जाते थे इमरान हाशमी, सीन के बात पूछते थे ये सवालजैक कैलिस ने चुनी इतिहास की सर्वश्रेष्ठ ऑलटाइम XI, 3 भारतीय खिलाड़ियों को दी जगहदुल्हन के लिबाज के साथ इलियाना डिक्रूज ने पहनी ऐसी चीज, जिसे देख सब हो गए हैरानकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेश

बड़ी खबरें

UP Assembly Elections 2022 : गृहमंत्री अमित शाह ने दूर की पश्चिम के जाटों की नाराजगी, जाट आरक्षण को लेकर कही ये बातटाटा ग्रुप का हो जाएगा अब एयर इंडिया, कर्मचारियों को क्या होगा फायदा और नुकसान?झारखंड में नक्सलियों ने ब्लास्ट कर उड़ाया रेलवे ट्रैक, राजधानी एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों का रूट बदलाBudget 2022: इस साल भी पेश होगा डिजिटल बजट, जानें कैसे होगी छपाईजिनके नाम से ही कांपते थे आतंकी, जानिए कौन थे शहीद बाबू राम जिन्हें मिला अशोक चक्रSchool Closed: यूपी में 15 फरवरी तक बंद हुए सभी स्कूल-कॉलेज, Online Classes जारी रहेंगीUP Police Recruitment 2022 : यूपी पुलिस में हाईस्कूल पास युवाओं के लिए निकली बंपर भर्तियां, जानें पूरी डिटेलहिजाब के बिना नहीं रह सकते तो ऑनलाइन कक्षा का विकल्प खुला : भट्ट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.