भीलवाड़ा यूआईटी में निर्माण कार्यों के बदले घूस के खेल का राजफाश

भीलवाड़ा नगर विकास न्यास में निर्माण कार्यों की स्वीकृति के साथ ही बिलों की भुगतान राशि के बदले घूस लेने के हो रहे बड़े खेल का एसीबी की जयपुर व टोंक ग्रामीण की टीमों ने गुरुवार सुबह बड़ी कार्रवाई कर राजफाश किया।

By: Narendra Kumar Verma

Updated: 03 Dec 2020, 01:54 PM IST

भीलवाड़ा। नगर विकास न्यास में निर्माण कार्यों की स्वीकृति के साथ ही बिलों की भुगतान राशि के बदले घूस लेने के हो रहे बड़े खेल का एसीबी की जयपुर व टोंक ग्रामीण की टीमों ने गुरुवार सुबह बड़ी कार्रवाई कर राजफाश किया। एसीबी टीमों ने सुबह न्यास के तीन बड़े अधिकारियों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से एक लाख रुपए की घूस में ली राशि बरामद की।

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो टोंक इकाई के एएसपी विजयसिंह मीणा ने बताया कि भीलवाड़ा के परिवादी की शिकायत थी कि नगर विकास न्यास में विभिन्न निर्माण कार्यों के बदले अलग-अलग अधिकारियों द्वारा अलग-अलग रिश्वत की मांग की जाती है। जो भी निर्माण कार्य किए जाते है, उनके बिल पास करने की एवज में एईएन से लेकर एसई तक तथा जिनके पास एक्सइन का चार्ज है वो लोग भी, जितने भी बिल पास करने होते है, उसकी एवज में रिश्वत की मांग करते है। एसीबी मुख्यालय के अधिकारियों के निर्देश पर शिकायत का सत्यापन कराया। सत्यापन में यह बात सही पाई गई।

उन्होंने बताया कि शिकायत के सत्यापन के समय न्यास के अधीक्षण अभियंता रामेश्वर शर्मा ने परिवादी से एक लाख २५ हजार रुपए प्राप्त कर लिए। इसके अलावा ब्रह्मालाल शर्मा व सतीश शारदा जो कि सहायक अभियंता है, लेकिन अभी दोनों के पास अधिशासी अभियंता का चार्ज है, दोनों ने भी निर्माण कार्य के बिल पास करने की एवज में ५०-५० हजार रुपए की मांग की थी। सत्यापन सही पाए जाने पर गुरुवार सुबह तीनों अभियंताओं के आवास पर ट्रेप कार्रवाई की गई।

कार्रवाई के दौरान राजीव गांधी ऑडिटोरियम रोड स्थित आवास पर अधीक्षण अभियंता शर्मा ने 50 हजार रुपए, आरसी व्यासनगर स्थित आवास पर सतीश शारदा ने बिल पास करने के एवज में 50 हजार मांगे थे, लेकिन कार्रवाई के दौरान वो 25 हजार रुपए तथा संजय कॉलोनी में ब्रहमा लाल निर्माण कार्य की स्वीकृति के बदले 25 हजार रुपए लेते गिरफ्तार किए गए। उन्होंने बताया कि परिवादी की इच्छा के मुताबिक उसका नाम गोपनीय रखा गया है।

उन्होंने बताया कि समूची कार्रवाई डीपीजी, एडीसीपी दिनेश एमएन के मार्ग निर्देशन में हुई। भीलवाड़ा में कार्रवाई के दौरान एसीबी जयपुर ग्रामीण के प्रभारी नरोत्तम वर्मा, डीएसपी नीरज भारद्धाज, टोंक ग्रामीण एसीबी के एएसआई वीरेन्द्र सिंह,हैड कांस्टेबल हनुमान आदि शामिल थे। उन्होंने बताया कि तीनों के आवासों की सर्च जारी है। जिनके खिलाफ साक्ष्य आएंगे, उनके खिलाफ कार्रवाई होगी।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned