भीलवाड़ा यूआईटी में बड़ा बदलावभीलवाड़ा यूआईटी में बड़ा बदलाव, अब चार जोन में विभक्त

नगर विकास न्यास के कार्य क्षेत्र में बड़ा बदलाव हुआ है। न्यास में अब किसी भ्भी अभियंता के जिम्मे शहर के प्रमुख कार्य नहीं होंगे। न्यास सचिव नितेन्द्र पाल सिंह ने बड़ी पहल करते हुए न्यास के कार्य क्षेत्र को चार जोन में विभक्त कर दिया है और न्यास के सभी चारों अधिशासी अभियंताओं को एक-एक जोन की कमान सौंपी है, इसी प्रकार सभी सहायक अभियंता व कनिष्ठ अभियंताओं की भी जिम्मेदारी तय की है।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 10 May 2020, 10:01 AM IST

भीलवाड़ा यूआईटी में बड़ा बदलाव

भीलवाड़ा। नगर विकास न्यास के कार्य क्षेत्र में बड़ा बदलाव हुआ है। न्यास में अब किसी भ्भी अभियंता के जिम्मे शहर के प्रमुख कार्य नहीं होंगे। न्यास सचिव नितेन्द्र पाल सिंह ने बड़ी पहल करते हुए न्यास के कार्य क्षेत्र को चार जोन में विभक्त कर दिया है और न्यास के सभी चारों अधिशासी अभियंताओं को एक-एक जोन की कमान सौंपी है, इसी प्रकार सभी सहायक अभियंता व कनिष्ठ अभियंताओं की भी जिम्मेदारी तय की है। Big change in Bhilwara UIT, now divided into four zones

कोरोना संक्रमण से जुझ रहे भीलवाड़ा शहर में बेहतर नगर नियोजन एवं विकास कार्यो की गुणवत्ता में प्रभावी सुधार के साथ ही न्यास में अभियंताओं को समान कार्य के लिए न्यास सचिव नितेन्द्रपाल सिंह ने सोशल इंजीनियरिंग की है। इसके लिए न्यास में पहली बार कार्य क्षेत्र को भीलवाड़ा शहर को चार हिस्सों में बांटा गया है। प्रत्येक जोन को तय सीमा में अलग-अलग बांटा गया गया है और इनमें भी सहायक अभियंता व कनिष्ठ अभियंताओं के क्षेत्र तय किए गए। अभी तक न्यास में प्रभावशाली अभियंताओं के इर्द गिर्द ही प्रमुख कार्य व परियोजनाओं का कार्यभार रहता था, ऐसे में कई अधिशासी, सहायक व कनिष्ठ अभियंताओं की न्यास कार्यों में सहभागिता सिर्फ नाममात्र की ही रहती थी, लेकिन न्यास सचिव ने तमाम व्यवस्थाएं बदल दी है।

विद्युत व उद्यान रहेंगे स्वतंत्र
विद्युत कार्य व उद्यान क्षेत्र को स्वतंत्र रखा गया है। विद्युत कार्य की कमान अधिशासी अभियंता संदीप माथुर के जिम्मे रहेगी। उनकी टीम में सहायक अभियंता तेजमल शर्मा तथा कनिष्ठ अभियंता करणङ्क्षसह गिरनार रहेंगे। इसी प्रकार उद्यान निरीक्षक मोहम्मद रफीक प्रमुख पार्को, राजीव गांधी ऑडिटोरियम, ग्रीन बेल्ट, सामुदायिक भवन में स्थित उद्यानों के साथ ही शिवाजी पार्क, नेहरू उद्यान व स्मृति वन की व्यवस्था जोन के अधिशासी अभियंताओं की कार्य योजनाओं के अनुरुप संभालेंगे। Bhilwara UIT

टीम वर्क से होगा बेहतर कार्य
न्यास की कार्यशैली को और प्रभावी बनाने के लिए चार जोन में विभाजित किया गया है, प्रत्येक जोन में अधिशासी अभियंताओं की अगुवाई में सहायक व कनिष्ठ अभियंताओं को जिम्मेदारी दी गई। नई व्यवस्था से कार्यक्षेत्र में न्यास की विभिन्न योजनाओं का कार्य अब अधिक बेहतर तरीके से हो सकेगा। जोन प्रभारी को क्षेत्र में सक्रिय रहते हुए टीम वर्क के साथ कार्य करना होगा। निर्माण कार्य की गुणवत्ता से कोई समझोता नहीं होगा।
नितेन्द्रपाल सिंह, सचिव नगर विकास न्यास

यू जानिए न्यास को चार जोन में

प्रथम जोन: प्रभारी अधिशासी अभियंता रामेश्वर शर्मा
सहायक प्रभारी: सहायक अभियंता रामप्रसाद जाट व अरविन्द व्यास
कनिष्ठ अभियंता: प्रवीण कुमावत, रोहन अजमेरा, रूचि अग्रवाल
सीमा: जोन में गंगापुर चौराहा से चित्तौडऱोड रेलवे लाइन से उदयपुर रोड, रामप्रसाद लढ़ा नगर से गंगापुर चौराहा मध्य का योजना एवं गैर योजना क्षेत्र
...............
द्वितीय जोन: प्रभारी अधिशासी अभियंता रविश श्रीवास्तव
सहायक अभियंता: जीतराम जाट
कनिष्ठ अभियंता: कमलेश जैन, खुर्रम अनवार, रामप्रसाद जाट
सीमा: गंगापुर रोड से अजमेर रोड, रेलवे लाइन से उदयपुर रोड,आरपी लढ़ा नगर के मध्य का हिस्सा, समस्त योजना एवं गैर योजना क्षेत्र
.............
तृतीय जोन: प्रभारी अधिशासी अभियंता करणराज जीनगर
सहायक प्रभारी: सहायक अभियंता बह्रालाल शर्मा
कनिष्ठ अभियंता: विशाल सिंह, पवन जीनगर, रविन्द्र कुशवाह
सीमा: अजमेर चौराहा से अजमेर रेलवे लाइन तथा कोटा रोड से अजमेर चौराहा के मध्य का समस्त योजना एवं गैर योजना क्षेत्र
..............
चतुर्थ जोन: प्रभारी अधिशासी अभियंता सतीश शारदा
सहायक प्रभारी: सहायक अभियंता महिपाल ढाका
कनिष्ठ अभियंता: लोकेश चन्दोरा, किशोर इसरानी
सीमा: कोटा रोड एवं कोटा रोड से चित्तौडऱोड, रेलवे लाइन के मध्य का संपूर्ण क्षेत्र एवं जिला कलक्ट्रेट ( नेहरू विहार को छोड़ कर )

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned