बिहारी समाज का चार दिवसीय छठ पर्व का आगाज

शुक्रवार को होगी डूबते सूर्य का पूजन

By: Suresh Jain

Updated: 17 Nov 2020, 09:11 PM IST

भीलवाड़ा।
उत्तर भारतीयों का चार दिवसीय छठ पर्व बुधवार से शुरू होगा। शुक्रवार को अस्त होते सूर्य की पूजा होगी तथा शनिवार को उगते सूर्य की पूजा के साथ व्रत पूरा होगा। छठ पूजा पर बिहारी समाज तालाब किनारे पूजन को जुटेंगे। जनमानस को यह विश्वास है कि छठ पूजन से मनोकामनाएं पूरी होती है।
बिहारी समाज के डॉ.अशोकसिंह के अनुसार छठ पूजा का व्रत करने वाली महिलाएं गुरुवार रात१2 बजे से शनिवार सुबह 8 बजे (32 घंटे) तक निराहार रहेंगी। शनिवार को सूर्योदय को अर्घ देने व पूजन की अन्य प्रक्रिया पूरी करने के बाद व्रत खोलेंगी। कोरोना संक्रमण के प्रभाव के कारण इस बार कोई सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं होगा।
शुक्रवार शाम को मानसरोवर झील, जलदाय विभाग के कुण्ड, नेहरू तलाई, हरणी महादेव, बापूनगर स्थित पार्क के कुण्ड सहित अपने घरों में बनाए विशेष कुण्ड पर पूजन करने वाली महिलाओं की भीड़ होगी। तालाब पर गन्ने सजाए जाएंगे। महिलाएं पूजन सामग्री बांस के सूप में सजा कर लाएंगी। इसमें श्रीफल, केले व अन्य फल, मूली, पान-सुपारी, सतुआ, चावल के लड्डू व अन्य सामग्री होगी। दीप प्रज्ज्वलित कर घाट पर कथा आदि होगी। जब सूर्य अस्त होगा तब तालाब में उतर कर महिलाएं पूजन करेंगी। शनिवार तड़के फिर पूजन सामग्री लेकर घाट पर आएंगी और उगते सूर्य को अघ्र्य देंगी।
उपवास से पहले तन-मन हो साफ
बुधवार को नहाय-खाय से महापर्व की शुरुआत होगी। व्रती इस दिन स्नान कर नए कपड़े पहनेंगे और घर-घर शुद्ध सात्विक भोजन बनाया जाएगा। चौथे दिन यानी सप्तमी तिथि को छठ महापर्व का समापन होगा। इस दिन उदयाचलगामी उगते हुए सूर्य की पूजा की जाती है।
यह होंगे कार्यक्रम
बुधवार - नहान होगा, नए चूल्हे पर चनादाल, चावल व लोकी की सब्जी बनेगी।
गुरुवार - छठ व्रत रखने वाली महिलाएं पूरे दिन निराहार रहेंगी। शाम को गुड़ की खीर और फल का भोग लगा कर व्रत खोलेंगी।
शुक्रवार- सुबह से निराहार रहेंगी। शाम को तालाब किनारे जाकर पूजन-कथा होगी। तालाब में खड़े होकर डूबते सूर्य का पूजन करेंगे।
शनिवार- तड़के ४ बजे तालाब किनारे जाएंगे। उगते सूर्य का पूजन कर अघ्र्य देंगे। घर आकर व्रत खोलेंगे।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned