बिजली के बिल बढ़े, परेशान उपभोक्ताओं की सुनवाई नहीं

पिछले साल का औसत बिल बनाकर भेजा

By: Suresh Jain

Updated: 27 Jun 2021, 10:39 PM IST

भीलवाड़ा।
सिक्योर कंपनी ने जून में दो से ढाई गुना अधिक बिजली के बिल भेजे हैं। कई उपभोक्ता इसकी शिकायत लेकर गांधीनगर स्थित सिक्योर के दफ्तर आ रहे हैं लेकिन उन्हें यह कहकर लौटाया जा रहा है कि पिछले साल गर्मी में इतनी यूनिट की खपत हुई थी। हालांकि उपभोक्ताओं का कहना है कि पिछली साल गर्मी में कूलर व एसी चले थे। इस बार कोरोना की दूसरी लहर में कूलर व एसी ज्यादा चले नहीं है। कोरोना के डर से लोग अब दिन में भी गरम पानी पीते हैं। सिक्योर कम्पनी के प्रतिनिधि ग्राहकों के तर्क मानने को तैयार नहीं। वे बिल सही बताकर जमा कराने की हिदायत दे रहे हैं।
आरके कॉलोनी निवासी सोहन लाल ने बताया कि पूर्व के बिल के अनुसार अभी 2-3 गुना राशि बढ़कर आई है। बिल औसत रीडिंग के अनुसार भेजा है जो सही नहीं है। किसी भी उपभोक्ता के बिल में रीडिंग नहीं दी है। सिक्योर कंपनी मनमाने तरीके से बिल भेज रही है। लोग परेशान हैं।
कंपनी प्रतिनिधि का कहना है कि कोरोना के कारण मई में रीडिंग नहीं ली थी। इसके कारण प्रोविजनल बिल भेजा था। अब दो माह का बिल एक साथ भेजा है। इसमें से प्रोविजनल बिल की राशि को कम कर राशि जमा कराने को कहा है। उपभोक्ता का कहना है कि प्रोविजन बिल की राशि लगभग १३०० से १५०० थी। अब बिल लगभग ६ हजार आया है। उसमें प्रोविजनल राशि को कम करके बिल जमा कराने के लिए कह रहे जो ४५०० से ४७०० है। यानी दो माह का बिल ६००० रुपए के करीब आया है। दो माह में ज्यादा से ज्यादा ४ हजार का बिल आना चाहिए। लेकिन इस तर्क को कोई सुनने को तैयार नहीं है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned