scriptBuy vegetables or fruits and flowers, forget all about 'cash Narayan' | सब्जी खरीदो या फल-फूल, 'नकद नारायण को सब रहे भूल | Patrika News

सब्जी खरीदो या फल-फूल, 'नकद नारायण को सब रहे भूल

हर व्यक्ति ऑन लाइन लेन-देन पर करने लगा विश्वास

भीलवाड़ा

Published: November 04, 2021 12:34:00 pm

भीलवाड़ा।
अब डिजिटल ट्रांजेक्शन यानी ऑनलाइन लेन-देन हमारे जीवन का हिस्सा बनता जा रहा है। दूध, सब्जी, किराणा से लेकर छोटी से छोटी वस्तुओं की खरीद में ऑनलाइन भुगतान आम बात हो गई है। हाथ लॉरी पर सब्जी की दुकान हो या दूध या फल विक्रेता, अब सभी ऑनलाइन लेन-देन को तरजीह दे रहे हैं। व्यापार और आपसी लेनदेन का यह ट्रेंड ग्राहकों को भी खूब भा रहा है। विभिन्न माध्यमों से प्रतिदिन बड़ी तादाद में ऑनलाइन नकदी का आदान-प्रदान किया जा रहा है। यह सुविधा ग्राहकों को जहां बैंकों की भीड़ से निजात दिला रही है, वहीं दुकानदारों को भी नकदी संभालने जैसे कई झंझटों से छुटकारा मिला है। ऐसे में अब ऑनलाइन लेनदेन हर किसी को रास आ रहा है।
बैंक भी कर रहे जागरूक
जिला प्रशासन के साथ-साथ बैंक भी अब ग्राहकों को ऑनलाइन लेनदेन के लिए जागरूक कर रहे हैं। सरकार की विभिन्न योजनाओं का पैसा पात्र व्यक्तियों के खाते में सीधा पहुंच रहा है। बैंक ग्राहकों को एटीएम, इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल से लेन-देन के लिए प्रोत्साहित कर रहे हैं। ऑनलाइन लेन-देन का चलन बढऩे का नतीजा भी सामने दिख रहा है। नकदी के लिए बैंकों में भीड़ कम होने लगी है। एटीएम से नकदी लेने वालों की संख्या धीरे-धीरे सिमट रही है। मोबाइल से नेट बैंकिंग और एप्प के माध्यम से भुगतान करना ज्यादा सुलभ हो गया है।
ऑनलाइन भुगतान से ग्राहक भी संतुष्ट
आरके कॉलोनी मजदूर चौराहे पर एक केबिन पर सब्जी बेचते हैं भंवरलाल। डिजिटल क्रांति का बड़ा उदाहरण है सब्जी की दुकान। यहां न कटे-फटे नोट की शिकायत मिलेगी और न ही खुले पैसों का झंझट। ऑनलाइन भुगतान कीजिए और सब्जी ले जाइए। ग्राहकों के लिए ऑनलाइन की यह सुविधा कई मुश्किलों को आसान बना रही है। भंवरलाल कहते हैं कि ऑनलाइन लेन-देन का चलन तेजी बढ़ रहा है। ग्राहक भी इससे संतुष्ट है।
कैशलेस व्यापार का बढ़ा चलन
सीताराम जी की बावड़ी के पास फल विक्रेता अशोक कुमार के यहां से कोई भी फल खरीदो, कैश साथ ले जाने की जरूरत नहीं। यहां ऑनलाइन लेन-देन की सुविधा मिल जाएगी। ग्राहक भी खरीदारी के बाद ऑनलाइन भुगतान करना पसंद करते हैं। ग्राहकों की पसंद को ध्यान में रखते हुए अशोक ने व्यापार करने का मौजूदा मॉडल अपनाया है।
कैशलेस के फायदे
- बैंकों की भीड़ से निजात।
- समय की बचत। 24 घंटे लेन-देन की सुविधा उपलब्ध।
- नकदी खोने का भय नहीं। न चोरी-लूट का खतरा।
- नोट कटने-फटने का भी झंझट नहीं।
- लेन-देन का रिकॉर्ड हमेशा सुरक्षित।
- नकद हर समय साथ रखना भी जरूरी नहीं।
ऑनलाइन लेन-देन के कई फायदे
अब नकदी साथ न हो तो भी कोई परेशानी नहीं होती। ऑनलाइन लेनदेन ग्राहक और दुकानदार दोनों के लिए फायदेमंद है। हर व्यक्ति इस सुविधा का लाभ उठा रहा है। बैंकों की ओर से भी ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग का उपयोग करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। सभी को ज्यादा से ज्यादा ऑनलाइन सुविधा का उपयोग करना चाहिए।
सोराज मीणा, लीड बैंक अधिकारी भीलवाड़ा
सब्जी खरीदो या फल-फूल, 'नकद नारायण को सब रहे भूल
सब्जी खरीदो या फल-फूल, 'नकद नारायण को सब रहे भूल

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Health Tips: रोजाना बादाम खाने के कई फायदे , जानिए इसे खाने का सही तरीकातत्काल पैसों की जरुरत है? तो जानिए वो 25 बैंक जो दे रहे हैं सबसे सस्ता Personal LoanPriyanka Chopra Surrogacy baby: तस्लीमा ने वेश्यावृत्ति, बुरका से की सरोगेसी की तुलनाराजस्थान में आज भी बरसात के आसार, शीतलहर के साथ फिर लौटेगी कड़ाके की ठंडJhalawar News : ऐसा क्या हुआ कि गुस्से में प्रधानाचार्य ने चबाया व्याख्याता का पंजामां लक्ष्मी का रूप मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां, चमका देती हैं ससुराल वालों की किस्मतAaj Ka Rashifal - 23 January 2022: सिंह राशि वालों के मन में प्रसन्नता रहेगीMaruti की इस सस्ती 7-सीटर कार के दीवाने हुएं लोग, कंपनी ने बेच दी 1 लाख से ज्यादा यूनिट्स, कीमत 4.53 लाख रुपये

बड़ी खबरें

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के विजेताओं से पीएम मोदी ने किया संवाद, 'वोकल फॉर लोकल' के लिए मांगी बच्चों की मददब्रेंडन टेलर का खुलासा, इंडियन बिजनेसमैन ने किया ब्लैकमेल; लेनी पड़ी ड्रग्ससंसद में फिर फूटा कोरोना बम, बजट सत्र से पहले सभापति नायडू समेत अब तक 875 कर्मचारी संक्रमितकर्नाटक में कोविड के 50 हजार नए मामले आने के बाद भी सरकार ने हटाया वीकेंड कर्फ्यू, जानिए क्या बोले सीएमRepublic Day 2022 parade guidelines: बिना टीकाकरण और 15 साल से छोटे बच्चों को परेड में नहीं मिलेगी इजाजतभारत दुनिया को खिला रहा ककड़ी-खीरा, बना सबसे बड़ा निर्यातक, किया इतने करोड़ का निर्याततीसरी लहर का सबसे डरावना ट्रेंड, बर्बाद कर रही फेफड़े, 40 फीसदी तक संक्रमणइलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय 28 तक बंद, UG , PG क्लास को लेकर नया सर्कुलर जारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.