गवाही देने के लिए तीन बार बुलाने पर भी नहीं आने पर सीआई के निकले गिरफ्तारी वारंट

विशिष्ट न्यायालय (एनडीपीएस मामलात) ने निरीक्षक (सीआई) के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया

By: tej narayan

Published: 20 Jan 2018, 11:11 PM IST

भीलवाड़ा।

विशिष्ट न्यायालय (एनडीपीएस मामलात) ने शनिवार को दौसा जिले के मानपुर थाने पर तैनात निरीक्षक (सीआई) के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। मादक पदार्थ तस्करी के मामले में तीन बार बुलाए जाने के बावजूद सीआई गवाही देने हाजिर नहीं हुए। अदालत ने कड़ा रूख दिखाते हुए दौसा जिले के पुलिस अधीक्षक को गिरफ्तारी वारंट भेजा और सीआई को आगामी 15 फरवरी को गिरफ्तार करके पेश करने के आदेश दिए है।

 

READ: किशोरी को अगवा कर बंधक बनाने वाला दुष्कर्मी अब भुगतेगा दस साल की जेल

 

दौसा जिले के मानपुर थाने पर तैनात निरीक्षक (सीआई) करणसिंह के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है। मादक पदार्थ तस्करी के मामले में तीन बार बुलाए जाने के बावजूद सीआई गवाही देने हाजिर नहीं हुए। अदालत ने कड़ा रूख दिखाते हुए दौसा जिले के पुलिस अधीक्षक को गिरफ्तारी वारंट भेजा और सीआई को आगामी 15 फरवरी को गिरफ्तार करके पेश करने के आदेश दिए है।

 

READ: खनन व्यवसायियों और स्टॉक मालिकों को धमका रहे तीन फर्जी पत्रकार गिरफ्तार

 

प्रकरण के अनुसार 27 अप्रेल 2007 को बनेड़ा थाने के तत्कालीन प्रभारी एवं निरीक्षक करणसिंह भीलवाड़ा-अजमेर राजमार्ग पर रायला पुलिस चौकी के बाहर नाकाबंदी कर रहे थे। इस दौरान भीलवाड़ा की ओर से आ रही कार नाकाबंदी तोड़कर आगे बढ़ गई। पुलिसकर्मियों ने शंका के आधार पर कार का पीछा किया। रायला पुलिया के निकट चालक अंधेरे का फायदा उठाकर वाहन छोड़कर खेतों में भाग गया।

 

READ: स्कूल में शराब पार्टी का मामला: चार बच्चों को किया निलंबित, एक के परिजन ने लगाया आरोप उस दिन छात्र स्कूल ही नही आया

 

पुलिसकर्मियों ने लावारिस हालत में कार बरामद कर उसमें से तीन बोरों में 102 किलो 500 ग्राम डोडा चूरा बरामद किया। पुलिस ने वाहन के इंजन और चेचिस नम्बरों के आधार पर दस साल बाद वर्ष-2017 में हेतमपुरा थाना सदर भिवानी (हरियाणा) पवन कुमार उर्फ पवनसिंह को गिरफ्तार किया। इससे पहले आरोपित को अदालत ने मफरूर घोषित कर रखा था।


तीन बुलाए तब तलब

अदालत ने इस मामले में गवाही के लिए सीआई करणसिंह को 21 नवम्बर 2017, 19 दिसम्बर तथा 20 जनवरी 2018 को सम्मन निकाल कर तलब किया। हर बार सीआई बहाना बनाकर पेशी पर हाजिर नहीं हुए। प्रकरण काफी पुराना होने और बार-बार बुलावे के बावजूद नहीं आने पर अदालत ने सीआई के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट निकाला। वारंट पुलिस अधीक्षक दौसा को भेजा गया है।

tej narayan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned