scriptCollector sir Also once see the condition of the canal system | कलक्टर साहब! एक बार नहरी तंत्र की हालत भी देखों | Patrika News

कलक्टर साहब! एक बार नहरी तंत्र की हालत भी देखों

-नहरों पर अतिक्रमण
कचरे व झाडि़यों से अटी, जल प्रवाह के दौरान खड़ी हो सकती है परेशानी

भीलवाड़ा

Updated: August 04, 2022 11:19:58 am

भीलवाड़ा.वस्त्रनगरी पर मानसून मेहरबान हैं। बांधों में पानी की आवक हो रही है, लेकिन प्रशासन बांधों की सुरक्षा एवं नहरी तंत्र के रखरखाव के मामले में खानापूर्ति की जा रही है। जिला कलक्टर ने एक दिन पहले बांधों की सुरक्षा के हालात जानकर इतिश्री कर ली, जबकि हकीकत यह है कि बांध के जल प्रवाह क्षेत्र पर नजरें इनायत नहीं की जा रही है। मुख्य रूप से मेजा बांध का नहरी तंत्री पूरी तरह से खस्ताहाल है। शहर के आबादी क्षेत्रों से गुजर रही नहर में जल प्रवाह के दौरान परेशानी खड़ी हो सकती है।
कलक्टर साहब! एक बार नहरी तंत्र की हालत भी देखों
कलक्टर साहब! एक बार नहरी तंत्र की हालत भी देखों
राजस्थान पत्रिका ने करीब 7 किलोमीटर तक जगह-जगह नहरी तंत्र के हालात की पड़ताल की तो प्रशासन व जल संसाधन विभाग की लापरवाही खुलकर सामने आई। हालांकि अभी बांध भराव क्षमता के मुकाबले काफी खाली हैं, लेकिन तेज बरसात एवं सिंचाई के समय जल प्रवाह में दिक्कत से इनकार नहीं किया जा सकता।
नहरी तंत्र के ये हाल

- जगह-जगह अतिक्रमण।
- सुरक्षा दीवारें कई जगह टूटी हुई।

- नहरों में साफ-सफाई का अभाव। गंदगी से अटी पड़ी।
- नहर के उपरी हिस्से में पाल भी कई जगह से खोखली है, जिससे हादसे का अंदेशा।
- कई जगह से नहर का वजूद ही समाप्त हो चुका है।
- जल प्रवाह क्षेत्र में कई जगह पर आवाजाही के प्रबंध।

------
आसपास के क्षेत्र में परेशानी ज्यादा
अतिक्रमण, गंदगी से अटी नहरों के चलते शहर के आबादी क्षेत्र में जल प्रवाह के दौरान अक्सर परेशानी सामने आती है। मुख्य रूप से आसपास सीपेज की समस्या ज्यादा है। सुरक्षा दीवार टूटने एवं अधिक बरसात में कॉलोनियों में पानी भरता है। बापूनगर के प्रहलाद कुमार बताते है कि नहरों की दशा खराब है। इन्हें जल्द ही ठीक कराने जरूरी हैं।
फैक्ट फाइल

- मेजा बांध - यह कोठारी नदी पर है
- 1957 बांध का निर्माण

- 97.34 लाख रुपए आई थी लागत
- 30 फीट क्षमता का बांध

- 14 फीट पेयजल के लिए रिजर्व
- 3 हजार हैक्टेयर में होती है सिंचाई
-125 एनीकट कैचमेंट एरिए में
- वर्ष 2016 में हुआ था बांध लबालब
- 25.95 किलोमीटर की दूरी तय करती हुई रूपाहेली सुवाणा तक जाती है दाईं मुख्य नहर शहर से होते हुए

- 36.40 किलोमीटर की दूरी तय कर महुवा खूर्द बनेड़ा तक जाती है बाईं मुख्य नहर मांडल से होते हुए
- 7 फीट 3 इंच पानी वर्तमान में
------------
सवाल
जिले के खस्ताहाल नहरी तंत्र के लिए कौन जिम्मेदार हैं। जल प्रवाह के दौरान बड़ी परेशानी खड़ी न हो इसके लिए क्या किया जा सकता हैं। क्यूआर कोड़ स्कैन कर अपने सुझाव दें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सुशील कुमार मोदी का नीतीश सरकार पर हमला, कहा - 'लालू के दामाद और कार्यकर्ता चला रहे सरकार, नीतीश लाचार'CM हेमंत सोरेन के आवास पर आज UPA की बैठक, JMM, कांग्रेस और RJD होंगे शामिलड‍िप्‍टी सीएम मनीष स‍िसोद‍िया के यहां CBI की रेड के बाद LG का बड़ा आदेश, 12 IAS अफसरों का ट्रांसफरमनीष सिसोदिया के घर समेत 31 जगहों पर रेड, 17 अगस्त को ही दर्ज हुई थी FIR, CBI ने जारी की पूरी डीटेलउपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास पर CBI की छापेमारी के बाद आम आदमी पार्टी ने किया ऐलान - '2024 में मोदी Vs केजरीवाल'PICS: देशभर में श्री कृष्ण जन्माष्टमी की धूम, सुनाई दे रही जयश्री कृष्णा की गूंजक्यों मनीष सिसोदिया के घर पर CBI कर रही छापेमारी? जानिए क्या है पूरा मामलामहाकाल की शाही सवारी 22 को, चार लाख श्रद्धालुओं के आने का अनुमान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.