किसान को नकली नोट थमाने का आरोप, बैंक में हंगामा

किसान को नकली नोट थमाने का आरोप, बैंक में हंगामा

Tej Narayan Sharma | Updated: 16 Jun 2017, 11:35:00 PM (IST) Bhilwara, Rajasthan, India

कस्बे के दी सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के एक खाताधारक काश्तकार ने बैंक पर दो हजार रुपए का नकली नोट थमाने का आरोप लगाया है। काश्तकार और उनके परिजनों ने दूसरे दिन बैंक में पहुंच मैनेजर से शिकायत की तथा नकली नोट बदलने की मांग की।

कस्बे के दी सेन्ट्रल को-ऑपरेटिव बैंक के एक खाताधारक काश्तकार ने बैंक पर दो हजार रुपए का नकली नोट थमाने का आरोप लगाया है। काश्तकार और उनके परिजनों ने दूसरे दिन बैंक में पहुंच मैनेजर से शिकायत की तथा नकली नोट बदलने की मांग की। शाखा प्रबन्धक के इस बात को नकारते हुए नोट नहीं बदलने की बात पर अड़ जाने से परिजनों ने बैंक में हंगामा खड़ा कर दिया। लेकिन कैशियर व शाखा प्रबन्धक अन्त तक बात को नकारते रहे।


फर्जी चिटफंड कंपनी का भंडाफोड़, पांच गिरफ्तार


बसेड़ा ग्राम पंचायत के बड़ला निवासी काश्तकार गोपाल कुमावत ने गुरुवार को कोऑपरेटिव बैंक में अपने खाते में से 55 हजार 5 सौ रुपए की राशि निकली। कुमावत ने यह राशि ले जाकर अपने पुत्र को दे दी। कुमावत के पुत्र राजेश एलआईसी की किश्त जमा करवाने शुक्रवार को बैंक आए और नोट को गिनने लगे। 


महिला को अगवा कर बंधक बना साढ़े तीन महीने तक किया दुष्कर्म


तभी उनकी नजर एक नोट पर पड़ी, जिस पर चिल्ड्रन बैंक ऑफ इण्डिया लिखा था। वे तुरन्त बैंक मैनेजर यशोधर गदिया के पास गए और नकली नोट बदलने की मांग की। इस पर मैनेजर ने यह कहते हुए नोट बदलने से इनकार कर दिया कि ये नोट बैंक की ओर से नहीं दिए गए।


परिजनों ने किया हंगामा

राजेश का कहना था कि वे शाखा प्रबन्धक के पास गए और एक दिन पहले उसके पिता को दिए 2-2 हजार के 27 व 100-100 के 15 नोटों को जांचने की मांग की। उन्होंने कैशियर से दो बार नोट गिनवाए, लेकिन वे भी नकली नोट नहीं पहचान पाए। जब उन्होंने नोटों की गड्डी में 2000 का नकली नोट निकालकर उन्हें दिखाया तो वे भी चौंक गए, लेकिन बैंक मैनेजर और कैशियर दोनों ही इस बात से इनकार करते रहे कि यह नोट उनकी शाखा से जारी हुआ है। बाद में राजेश के अन्य परिजन भी वहां आ गए। उन्होंने वहां हंगामा किया। लेकिन मैनेजर अन्त तक नकली नोट भुगतान राशि में देने से इंकार करते रहे।




राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned