यूआईटी में अब नहीं चलेगा कोरोना का बहाना, करना होगा काम

नगर विकास न्यास में अब लापरवाह एवं राजकाज के प्रति उदासीन कर्मियों की खैर नहीं है। खास कर उन अधिकारियों व कर्मचारियों को अब कार्यालय में आ कर काम करना होगा, जोकि कोराना संक्रमण की बात कह कर गोत लगाए हुए थे। बढ़ती शिकायतों के बाद ऐसे कर्मियों के खिलाफ विभागीय एवं अनुशासन कार्रवाई की चेतावनी देते हुए कार्यालय समय में विभागीय शाखा में मौजूद रहने के लिए पाबंद किया है।

By: Narendra Kumar Verma

Updated: 08 Oct 2020, 12:06 PM IST

भीलवाड़ा। नगर विकास न्यास में अब लापरवाह एवं राजकाज के प्रति उदासीन कर्मियों की खैर नहीं है। खास कर उन अधिकारियों व कर्मचारियों को अब कार्यालय में आ कर काम करना होगा, जोकि कोराना संक्रमण की बात कह कर गोत लगाए हुए थे।


न्यास सचिव संजय शर्मा ने बढ़ती शिकायतों के बाद ऐसे कर्मियों के खिलाफ विभागीय एवं अनुशासन कार्रवाई की चेतावनी देते हुए कार्यालय समय में विभागीय शाखा में मौजूद रहने के लिए पाबंद किया है। सचिव शर्मा के अनुसार कुछेक अधिकारी व कार्मिक ऐसे है जो कि सुबह ९.३० बजे कार्यालय में उपस्थित नहीं होते है। दोपहर में भोजनावकाश की अवधि समाप्त के काफी देर तक कार्यालय में नहीं आते है। ऐसे अधिकारियों व कर्मचारियों को आगाह किया है कि वह कार्यालय समय की पालना सुनिश्चित करें, नहीं तो उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

प्रकार विभिन्न शाखाओं में ऑनलाइन कार्य होने के बावजूद लोगों की पत्रावलियों को तय सीमा के बावजूद रोके रखते है। उन्होंने तय सीमा के कार्य नही करने वाले कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश दिए है। वही कोरोना संक्रमण का बहाना कर कई अधिकारी व कर्मचारी नियमित रूप से कार्यालय में नहीं आ रहे है या छुट्टी पर चल रहे है। ऐसे कर्मियों को लेकर उन्होंने एक आदेश जारी कर स्पष्ट किया कि कोरोना जांच रिपोर्ट पेश करे। भविष्य में जांच रिपोर्ट के आधार पर ही अवकाश देने या कार्यालय छोडऩे की अनुमति जारी की जाएगी।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned