अस्पताल कैंटीन में कोविड-19 नियमों की पालना नहीं

संक्रमण का खतरा डस्टबिनों के बाहर पड़ा रहता है कचरा
मरीज व अटेंडर हो सकते हैं संक्रमित

By: Suresh Jain

Published: 24 Jul 2020, 06:09 PM IST

भीलवाड़ा .

महात्मा गांधी अस्पताल परिसर में संचालित कैंटीन में कोविड-19 नियमों की पालना नहीं की जा रही है। यहां साफ-सफाई के अभाव के साथ ही सोशल डिस्टेसिंग की भी पालना नहीं करना गंभीर लापरवाही है। जबकि कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जिला प्रशासन और मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने कोविड-19 नियमों की पालना के स्पष्ट निर्देश जारी की है। लेकिन इस कैंटीन पर ही इन नियमों की अवहेलना मिलने पर यह निर्देश कागजी साबित हो रहे हैं।
कैंटीन के बाहर चाय-नाश्ता करने वालों के लिए कुर्सियां लगाई गई है तथा यहां खाद्य पदार्थों के कचरे के लिए डस्टबिन रखा गया है। कैंटीन स्टाफ की ओर से डस्टबिन भरने के बाद दूसरा नहीं रखा जाता है तथा डस्टबिन से कचरा बाहर फैलता रहता है। ऐसे में यहां कचरे की दुर्गंध तो फैलती ही है, साथ ही संक्रमण का खतरा भी बना हुआ है। यह मुद्दा तब और गंभीर हो जाता है, जब कैंटीन पर आने वाले अधिकांश अटेंडर अस्पताल के मरीजों के परिजन है। अटेंडर यहां से वार्ड में भर्ती गर्भवती महिलाओं व डिलेवरी के बाद महिलाओं के लिए चाय व नाश्ता लेकर जाते है कैंटीन से संक्रमण इन भर्ती महिला व उनके बच्चों तक पहुंचने का खतरा बना हुआ है। कैंटीन ठेकेदार की ओर से जहां कैंटीन में साफ-सफाई में लापरवाही बरती जा रही है वहीं यहां आने वाले ग्राहकों के बीच सोशल डिस्टेसिंग तथा सैनिटाइजेशन का कोई ख्याल नहीं रखा जा रहा है। सामान लेने के दौरान ग्राहकों की भीड़ तक लगी रहती है। जबकि अस्पताल में कोविड-19 नियमों की अवहेलना संक्रमण का कारण बन सकती है।
कैंटिन के पास ही मेडिकल स्टोर भी है, इसके आस-पास भी सफाई नहीं है। लोग मास्क को भी आस-पास में फैंक देते है। इससे भी संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है।
ऐसा नहीं है कि अस्पताल प्रबंधन को यह नजर नहीं आता होए मेडिकल कॉलेज प्रिंसीपलए सीएमएचओए अस्पताल अधीक्षक सहित अन्य सभी डॉक्टर्स इस मार्ग से निकलते है। कैंटीन के सामने से ही आना.जाना होता है। लेकिन इस ओर कभी ध्यान ही नहीं दिया गया। कैंटीन में ठेकेदार की ओर से यहां मिलने वाली खाद्य सामग्री की रेट लिस्ट नहीं लगाई गई है तथा बिक्रय शर्तों के विपरीत यहां तम्बाकू उत्पाद भी बेचे जाते हैं।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned