सोते बच्चों के निकट मगरमच्छ देख पिता के होश उड़े

भीलवाड़ा जिले के बीगोद कस्बे के त्रिवेणी चौराहा के पास स्थित मण्डी गांव में शनिवार सुबह ३ फीट लम्बा मगरमच्छ घर में घुस आया। यह देख बच्चों के पिता के होश एकबारगी उड़ गए। पिता की सूझबूझ से बच्चों के ताउओं ने मगरमच्छ को पकड़ लिया। सूचना पर वन विभाग के अधिकारी टीम सहित पहुंचे तथा मगरमच्छ को पकड़ कर मेनाल के जंगल में छोड़ा।

By: Durgeshwari

Published: 07 Jul 2019, 03:29 PM IST

बीगोद.

भीलवाड़ा जिले के बीगोद कस्बे के त्रिवेणी चौराहा के पास स्थित मण्डी गांव में शनिवार सुबह 3 फीट लम्बा मगरमच्छ घर में घुस आया। यह देख बच्चों के पिता के होश एकबारगी उड़ गए। पिता की सूझबूझ से बच्चों के ताउओं ने मगरमच्छ को पकड़ लिया। सूचना पर वन विभाग के अधिकारी टीम सहित पहुंचे तथा मगरमच्छ को पकड़ कर मेनाल के जंगल में छोड़ा। वन विभाग का मानना है कि मगरमच्छ नजदीक ही मेनाली नदी से आया था।

मण्डी गांव में रामलाल भील के घर में कमरे में शनिवार सुबह लगभग साढ़े छह बजे तीन बच्चे सो रहे थे। दूसरे कमरे में सो रहे बच्चों के पिता राजूलाल भील जाग होने पर जब बच्चों के कमरे में आने लगा तो देखा कि कमरे की देहरी पर एक मगरमच्छ मुंह खोले तीन फीट दूरी पर सोते हुए बच्चों की ओर देख रहा है। मगरमच्छ को अपने बच्चों की ओर देखते रामलाल भील के एक बार होश उड़ गए। बच्चों की प्राण रक्षा की चिंता के बीच उसने सूझबूझ से काम लेते हुए तुरन्त पड़ौस में रह रहे अपने दोनों बड़े भाइयों को मगरमच्छ आने की जानकारी दी।

रामलाल के भाई नन्दलाल व मोडूलाल तुरन्त रामलाल के घर पहुंचे। जहां पर उन्होंने मगरमच्छ पर बोरी डालकर तीनों भाइयों ने उसे नियंत्रण में ले लिया। फिर रस्सी से बांध कर बाहर पेड़ से बांध दिया। इस बीच में गांव में ग्रामीणों को भी जानकारी लगी। लोग रामलाल के घर के बाहर इकट्ठे होने लगी। त्रिवेणी संगम स्थित अतिप्राचीन मंदिर के पुजारी राम पुरी ने वन विभाग को सूचित किया।

वन विभाग के वनपाल रामावतार शर्मा मय टीम पहुंचीं। जहां से मगरमच्छ को पकड़ कर ले गए। वनपाल शर्मा ने बताया कि मगरमच्छ को पकडऩे के बाद मेनाल के घने जंगल में छोड़ा गया। टीम में सहायक वनपाल मंजूर अली व वन रक्षक रविन्द्र सिंह शामिल थे।

उल्लेखनीय है कि मण्डी गांव से मात्र २०० मीटर दूर ही मेनाली नदी बह रही है। यह नदी बेड़च व बनास नदी के साथ त्रिवेणी संगम में मिलती है।

Durgeshwari Desk
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned