दूसरों की गलती पर पिटी भीलवाडा पुलिस... आखिर क्या हुए ऐसा

आसींद थानाप्रभारी सुरेश ढाबरिया व एसएसआइ हरीश कुमार की पिटाई

By: mahesh ojha

Published: 05 Sep 2019, 01:59 AM IST

बदनोर. (भीलवाड़ा)।

क्षेत्र में के चोटियास के निकट जयपुर से पदयात्रा कर सवाईभोज आ रहा युवक बुधवार को खारी नदी के एनिकट में डूब गया। तीन घंटे तक रेस्क्यू टीम नहीं पहुंचने का खमियाजा पुलिस को पिटकर उठाना पडा। हाईवे पर जाम लगाने पर समझाइश का प्रयास करते आसींद थानाप्रभारी सुरेश ढाबरिया व एसएसआइ हरीश कुमार की पिटाई कर दी। अन्य पुलिसकर्मियों से धक्कामुक्की कर मोबाइल छीन लिए। पुलिस ने लाठियां भांजकर भीड़ को खदेड़ा। घायल थानाप्रभारी व एएसआइ को अस्पताल भर्ती कराया गया। वहां से भीलवाड़ा रैफर कर दिया गया। इस बीच, भीलवाड़ा से गई रेस्क्यू टीम ने एनिकट से शव निकाला।

बदनोर थानाप्रभारी रतनलाल ने बताया कि जेतगढ़ (बदनोर) निवासी हेमराज गुर्जर जयपुर में नौकरी करता था। वह भादवी छठ पर जयपुर से पैदल सवाईभोज दर्शन करने आया था। वह सुबह 10 बजे चोटियास के निकट खारी नदी पर बने एनिकट में नहाने लगा। किनारे बैठकर नहाते समय पैर फिसलने से एनिकट में डूब गया। मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण जमा हो गए। दोपहर एक बजे तक रेस्क्यू टीम नहीं आने पर गुस्साए लोगों ने भीम-गुलाबपुरा हाईवे पर जाम लग दिया। सूचना पर बदनोर पुलिस वहां पहुंची। आसींद पुलिस उपाधीक्षक रोहित मीणा व थानाप्रभारी सुरेश ढाबरिया भी आ गए।


उग्र हुई भीड़

पुलिसकर्मी समझाइश का प्रयास कर रहे थे। इसी दौरान भीड़ ने थानाप्रभारी ढाबरिया और डीएसपी मीणा के कार्यालय में तैनात एएसआइ हरीश कुमार की पिटाई कर दी। बचाव में आए अन्य पुलिसकर्मियों से धक्का-मुक्की की। कुछ पुलिसकर्मियों के मोबाइल छीन लिए। पुलिस जाप्ते ने लाठियां भांजकर भीड़ को हटाया। घायल ढाबरिया और हरीश को अस्पताल पहुंचाया गया।


एक घंटे की तलाश, निकाला शव

इस बीच, जिला मुख्यालय से पहुंचे गोताखोरों ने एक घंटे की तलाश के बाद शव को एनिकट से निकाल लिया। शव आसींद मोर्चरी ले जाया गया। वहां चिकित्सालय के बाहर भी भीड़ जमा हो गई। हालात को देखते हुए सहाड़ा एएसपी राजेश भारद्वाज व आसपास के थानाप्रभारियों को जाप्ते के साथ बुला लिया गया। पुलिस ने शाम को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया।

50 के खिलाफ मामला दर्ज

बदनोर थानाप्रभारी रतनलाल की ओर से बुधवार रात 50 जनों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया। इनमें पुलिसकर्मियों से मारपीट, राजकार्य में बाधा, मोबाइल छीनने व हाईवे जाम कर जातिगत अपमानित करने का मामला दर्ज किया गया। पुलिस आरोपियों को नामजद करने में लगी है। भादवी छठ के कारण पदयात्रियों की भीड़ थी। युवक के एनिकट में डूबने पर बड़ी संख्या में लोग एकत्र हो गए थे। इनमें अधिकांश पदयात्री थे।


पहले भी पिटी पुलिस

डेढ़ माह पूर्व गंगापुर क्षेत्र के कालाभाटा में चोरी के मामले में वांछित आरोपी की तलाश में आए हरियाणा के पुलिस दल से ग्रामीणों ने मारपीट वर्दी फाड़ दी। इसमें एएसआई समेत कुछ पुलिसकर्मियों के चोटें आई। इसी तरह चेन्नई में हुई चोरी की जांच के लिए पहुंचे पुलिस दल पर गुलाबपुरा क्षेत्र पर ग्रामीणों ने हमला कर दिया। हमले में उपनिरीक्षक समेत चार पुलिसकर्मी घायल हो गए। बजरी माफिया ने सवाईपुर चौकी प्रभारी रामकिशोर बेड़ा का अपहरण कर बंधक बना लिया था। एक सिपाही की वर्दी फाड़ दी गई।

mahesh ojha
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned