बेटियां बढ़ी, जिले का लिंगानुपात 9५2 हुआ

बेटियां बढ़ी, जिले का लिंगानुपात 9५2 हुआ
Daughters grew, ratio of the district was 952 in bhilwara

Suresh Jain | Updated: 14 Jul 2019, 11:34:33 AM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

वर्ष 2011 में था 909 का अनुपात

भीलवाड़ा।
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के प्रेग्नेंसी एंड चाइल्ड ट्रेकिंग सिस्टम में दर्ज आंकड़ों की मानें तो जिले में बेटियों की संख्या बढ़ी है। इस वर्ष प्रदेश में जन्म के समय का बाल लिंगानुपात बढ़कर 9५२ हो गया है। जिले में वर्ष 2018-19 के दौरान लिंगानुपात गत वर्ष की तुलना में भीलवाड़ा में 933 से 95२ हो गया है। जिले में ४२ सोनोग्राफी सेन्टरों का निरीक्षण किया गया है। जिले में मुखबीर योजना चलाई जा रही है। हालांकि जिले में अब तक एक भी मामला सामने नहीं आया है। मालूम हो, प्रदेश में जन्म के समय बाल लिंगानुपात वित्तीय वर्ष 2015-16 में 92८, वर्ष 2016-17 में 93२ एवं वर्ष 2017-18 में 94५ रहा था। वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार यह ९०९ था।
45 इंटरस्टेट डिकॉय ऑपरेशन
प्रदेश की पीसीपीएनडीटी इकाई की ओर से वर्ष 2015 से 2018 के दौरान 45 इंटरस्टेट डिकॉय ऑपरेशन किए गए। गुजरात में 16, दिल्ली में 1, उत्तर प्रदेश में 12, हरियाणा में 4, पंजाब में 8 तथा मध्य प्रदेश में 4 इंटरस्टेट डिकॉय ऑपरेशन किए गए है। इन डिकॉय ऑपरेशन तथा पीसीपीएनडीटी एक्ट की अनुपालना में सख्ती के कारण दलालों ने पड़ोसी राज्यों में जाकर भ्रुण ***** परीक्षण के तरीकों में बदलाव किया है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned