खांखला हत्याकांड का फैसला: देर रात लौटने पर टोका तो बेटे को नागवार गुजरा, घोंट दिया मां का गला, अब भुगतेगा उम्रकैद की सजा

Tej Narayan Sharma | Publish: May, 17 2019 01:51:32 PM (IST) | Updated: May, 17 2019 01:51:33 PM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

अपर सेशन न्यायाधीश ने शुक्रवार को मां की हत्या करने के आरोपी बेटे को प्रस्तुत साक्ष्यों व गवाहों के आधार पर दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई।

भीलवाड़ा।
अपर सेशन न्यायाधीश संख्या 1 कैंप कोर्ट गंगापुर ने शुक्रवार को मां की हत्या करने के आरोपित बेटे प्रकाश पुत्र भैरूलाल तेली को दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई। वहीं दो हजार रुपए के जुर्माने की आदेश दिए।

 

प्रकरण के अनुसार 27 अगस्त 2017 को खांखला गांव में छोटे बेटे प्रकाश तेली ने अपनी मां सोहनी देवी की गला घोंटकर हत्या कर दी थी। मां का कसूर बस इतना था कि वह देर रात तक घर लौट रहे बेटे को टोकती और समय पर खाना खाने को कहती थी। बार—बार टोकना बेटे को नागवार गुजरा। उसने कहासुनी के बाद मां का गला घोट दिया। बड़ा बेटा गणपत दूध लेकर आया तो मां कमरे में मृत मिली और आरोपी प्रकाश मौके से भाग गया था। खांखला गांव के ग्रामीणों ने भागते प्रकाश को दबोचकर जमकर धुनाई की थी तथा घर के बाहर रस्सी और पाइप से बांध दिया था। इसके बाद पुलिस को सौंपा था।

 

अपर सेशन न्यायाधीश ने शुक्रवार को मां की हत्या करने के आरोपी बेटे को प्रस्तुत साक्ष्यों व गवाहों के आधार पर दोषी मानते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई। साथ ही दो हजार रुपए के जुर्माने के आदेश दिए।

 

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned