परिजन विवाहिता को भीलवाड़ा में तलाश रहे थे, अजमेर में दो सप्ताह पहले हो चुकी थी हत्या

थाना क्षेत्र से एक पखवाड़ा पूर्व लापता विवाहिता की दुष्कर्म के बाद हत्या हुई थी, इसका खुलासा सोमवार को हुआ

By: tej narayan

Published: 13 Mar 2018, 12:10 AM IST

मांडल।

थाना क्षेत्र से एक पखवाड़ा पूर्व लापता विवाहिता की दुष्कर्म के बाद हत्या हुई थी, इसका खुलासा सोमवार को हुआ। लापता होने के अगले दिन ही हत्या को अजमेर जिले के श्रीनगर थाना क्षेत्र में अंजाम दिया गया लेकिन परिजनों को इसकी जानकारी सोमवार को सोशल मीडिया के जरिए मिली। परिजनों ने सोमवार दोपहर में अजमेर पहुंच कर समूचे घटना की जानकारी ली।

 

READ: सुंदरकांड पाठ और रक्तदान की अलख जगा रहे मोहता

 

थाना प्रभारी दिनेश कुमावत ने बताया कि मांडल क्षेत्र की एक विवाहिता के २५ फरवरी से गुमशुदगी की रिपोर्ट उसके ही भतीजे ने 9 मार्च को माण्डल थाने में दी। पुलिस ने गुमशुदगी दर्ज की और जिले के साथ ही पड़ोसी जिलों को भी घटना से अवगत कराया। इसी बीच सोमवार को सोशल मीडिया पर अजमेर के श्रीनगर थाना पुलिस की ओर से एक मृतका की पहचान को दिए इश्तिहार को देख परिजन सन्न रह गए। इश्तिहार में चस्पा फोटो के लापता विवाहिता से मिलने तथा अनहोनी की आशंका में वे सोमवार को श्रीनगर पुलिस थाना पहुंचे। यहां उन्हें अज्ञात महिला के शव के वस्त्र दिखाए गए। कपड़े देख परिजन बिलख पड़े। उन्होंने शव की पहचान लापता विवाहिता के रूप में की। मामले की श्रीनगर पुलिस जांच कर रही है।

 

READ: भीलवाड़ा के गौरी परिवार के झंडा चढ़ाने की रस्‍म के साथ ही शुरू होगा गरीब नवाज का उर्स, ख्‍वाजा की नगरी के ल‍िए गौरी परिवार झंडा लेकर रवाना

 

बाड़े में मिला रक्त रंजित शव
दूसरी तरफ श्रीनगर पुलिस ने बताया कि थाना क्षेत्र के तिहारी गांव में 26 फरवरी की सुबह रामनारायण जाट के बाड़े में अज्ञात महिला का रक्त रंजित शव मिला था। यहां महिला का शव सिर व लुगड़ी पॉलिथीन से ढकी मिली, जो खून से लथपथ थी। सिर पर गहरा जख्म मिला। शव को घसीट कर लाने के निशान भी थे। शव से कुछ दूरी पर महिला के अंर्तवस्त्र भी पड़े थे। पुलिस ने प्रथम दृष्टया महिला से दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका जताई। शव की पहचान नहीं होने पर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम के बाद 27 फरवरी को अंतिम संस्कार कर दिया गया।

 

बेटे ने छोड़ा था हरिपुरा चौराहे पर

परिजनों ने पुलिस को बताया कि 25 फरवरी को मृतका के पास किसी व्यक्ति का फोन आया। उससे सोने के मांदलिए लेने की बात कहते उसने अपने बेटे को बाइक से उसे हरिपुरा चौराहे पर छोडऩे को कहा था। बेटे के छोड़े जाने के बाद से वो लापता है। उसकी रिश्तेदारों में तलाश कराई गई, कही से सूचना नहीं मिलने पर थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दी।

tej narayan
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned