एक से अधिक खाते की जानकारी नहीं देने पर होगी परेशानी

न्यूनतम बैलेंस नहीं होने पर बैंक लगा सकता हैं जुर्माना

By: Suresh Jain

Published: 01 Jul 2019, 06:26 PM IST

भीलवाड़ा।
आपके खाते दो या अधिक बैंकों में है, तो सतर्क हो जाइए। समय बीतने के साथ ही लोग ज्यादा खाते मैनेज नहीं कर पाते हैं। खासकर नौकरीपेशा लोगों के साथ यह परेशानी आती है। बचत खाते में न्यूनतम राशि रखने का नियम होता है, लेकिन खाताधारक इस नियम की पालना नहीं कर पाते हैं। बैंक खाताधारकों से जुर्माना वसूल भी सकता है। कई निजी बैंकों में जहां न्यूनतम बैलेंस की राशि 10 हजार रुपए तक है। ज्यादातर सरकारी बैंकों में एक हजार रुपए न्यूनतम बैलेंस है।
सीए प्रकाश गंगवाल ने बताया कि आयकर रिटर्न फाइल करते समय सीए सभी बैंक खातों से जुड़ी जानकारियां मांग सकता है। किसी बैंक खाते की जानकारी रिटर्न फाइल करते समय नहीं दी, तो भविष्य में स्क्रूटनी होने पर मुसीबत आ सकती है। रिटर्न के समय सभी बैंक खाते का स्टेटमेंट जुटाना मुश्किल भरा काम होता है।
लग सकता अतिरिक्त चार्ज
कई बैंक खाते होने से और भी नुकसान हैं। बैंक डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड के अलावा अन्य बैंकिंग सुविधाओं के लिए ग्राहकों से चार्ज लेता है। ऐसे में खाताधारक को नुकसान होने की आशंका बढ़ जाती है।
हो सकती है परेशानी
भीलवाड़ा अरबन को-ऑपरेटिव बैंक के प्रबन्धक धर्मेन्द्र वर्मा ने बताया कि एक से अधिक बैंक खाते होने से ब्याज के स्तर पर भी नुकसान उठाना पड़ सकता है। पैसा कई खातों में है तो बचत खाते पर मिलने वाला ब्याज चूंकि काफी कम होता है। ऐसे में खाताधारक को आर्थिक नुकसान उठाना पड़ सकता है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned