बिजली विभाग ने थमाए उद्योगों को बिल, कहां दो दिन में जमा कराओ

उद्यमियों के पास मजदूरों को वेतन व बैंकों की किश्त चुकाने के लिए भी नहीं है राशि

भीलवाड़ा .

Textile industry कोरोना वायरस का असर देश-विदेश के साथ टेक्सटाइल उद्योग व शेयर बाजार पर पड़ा है। इसके चलते उद्यमियों की कमर टूट गई है। विदेशों से माल के ऑर्डर निरस्त हो रहे है। स्थानीय बाजार में मांग नहीं है। भुगतान तक अटक गया है। वही दूसरी और लगातार शेयर बाजार के गिरने से भीलवाड़ा में एक हजार करोड़ का झटका लगा है। Textile industry ऐसी स्थिति में अजमेर विद्युत वितरण निगम लिमिटेड ने उद्योगों को बिजली के बिल थमाकर उसे दो दिन में जमा कराने को कहा है।
उद्यमियों का कहना है कि माल का उत्पादन पूरी तरह से ठप पड़ा है। मशीने के चक्के जाम है। माल की सप्लाई नहीं हो रही है। विदेशों से आर्डर निरस्त हो रहे। ऐसे में बिजली विभाग ने लाखों रुपए के बिल जारी कर उन्हें जमा कराने के लिए मात्र दो से पांच दिन का समय दिया है। जबकि उद्यमियों की पहली प्राथमिकता मजदूरों को भुगतान करना होगी। उसके लिए भी भुगतान बाहर से आना संभव नहीं लग रहा है।
बैंकों की किश्त चुकाना होगा मुश्किल
उद्यमियों को कहना है कि लॉक डाउन के चलते बैंकों की किश्ते भी चुकाना मुश्किल होगा। अन्तरराष्ट्रीय स्तर पर चल रही आर्थिक मंदी के चलते विदेशों से भुगतान नहीं आ रहा है।
सरकार देनी होगी छूट
लॉक डाउन के चलते सभी तरह के उद्योग बन्द है। जो अगले १४ अप्रेल तक चलने की स्थिति में नहीं है। उद्योग पुन: चालु होने तथा उत्पादन शुरू होने में कम से कम दो माह का समय लग जाएगा। ऐसे में सरकार से मांग है कि बिजली के बिलो को लॉक डाउन के समय को छोडकर कुछ और दिनों का समय दिया जाना चाहिए। बैंको की किश्ते को भी किश्ते की जानी चाहिए ताकि मजदूरों को समय पर भुगतान हो सके। इसकेो मुख्यमंत्री को पत्र भी लिखा है।
संजय पेडिवाल, अध्यक्ष सिन्थेटिक्स वीविंग मिल्स एसोसिएशन
उद्योगों को मिले राहत
लॉक डाउन के चलते पूरे देश के उद्योग व व्यापार बन्द है। भुगतान करने से सभी ने हाथ खिंच लिए है। ऐसी स्थिति में बिजली के बिल, बैंक की किश्ते जमा कराना मुश्किल होगा। सरकार को चाहिए इस संकट की घड़ी में उद्योगों के लिए भी राहत के घोषणा करें।
आरके जैन, महासचिव मेवाड़ चैम्बर ऑफ कामर्स

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned