पशुपालकों को स्वरोजगार पर दिया जोर

पशुपालकों को स्वरोजगार पर दिया जोर
Emphasis on self-employment to cattlemen in bhilwara

Suresh Jain | Updated: 13 Sep 2019, 08:12:22 PM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

आत्मा योजना के तहत किसानों व पशुपालकों को पशुपालन का महत्व बताने के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर लगाया गया।

भीलवाड़ा।
aatma yojana आत्मा योजना के तहत किसानों व पशुपालकों को पशुपालन का महत्व बताने के लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण शिविर लगाया गया। बारानी कृषि अनुसंधान केन्द्र आरजिया में लगाए गए शिविर में पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. भगवतीलाल दशोरा, डॉ. गोतम रांका ने विभाग की योजनाओं की जानकारी दी।

aatma yojana भीलवाड़ा डेयरी उप प्रबन्धक डॉ. राजेन्द्र उदावत ने डेयरी में स्वरोजगार की सम्भावना पर बल दिया। कृषि विज्ञान केन्द्र के पशुपालन वैज्ञानिक डॉ. सीएम यादव ने पशु आहार एवं आजोला उत्पादन की जानकारी दी। आत्मा परियोजना निदेशक इन्द्रसिंह संचेती ने परियोजना के तहत दिए जाने वाले पुरस्कार के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि इसमें अच्छा काम करने वाले किसान पुरस्कार के लिए आवेदन कर सकता है। परियोजना निदेशक सिद्धार्थ सांलकी, केन्द्र के प्रो. डॉ. आरपी मीणा, डॉ. जेके बालियान ने भी सम्बोधित किया। कार्यक्रम प्रभारी डॉ. ललित छाता ने प्रश्नोत्तरी आयोजित कर विजेता को पुरस्कृत किया। वरिष्ठ वैज्ञानिक व अध्यक्ष डॉ. ओपी पारीक, शस्य वैज्ञानिक डॉ. केसी नागर, एमएस चुंडावत ने भी जानकारी दी।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned