बैंकों में सोशल डिस्टेंस न मास्क की अनिवार्यता

गाइडलाइन दरकिनार

By: Suresh Jain

Published: 28 May 2020, 03:02 AM IST

भीलवाड़ा
शहर के अधिकांश बैंकों में कोरोना को लेकर लापरवाही बरती जा रही है। न ग्राहक नियम कायदे मान रहे और न बैंक के जिम्मेदार अधिकारी इस ओर ध्यान दे रहे हैं। पत्रिका टीम ने बुधवार को शहर के बैंकों के हालत जांचे तो ज्यादातर में कोरोना गाइडलाइन की पालना में लापरवाही सामने आई।

बैंकों में लोग बिना मास्क लगाए पहुंच रहे हैं। नियम है कि बिन मास्क कोई व्यक्ति घर से नहीं निकल सकता। जो लोग मास्क लगाकर नहीं आ रहे हैं, उनका काम नहीं करने के सरकारी निर्देश हैं लेकिन बैंक एेसे कर्मियों से लेनदेन कर रहे हैं। शहर के कई बैंकों में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाई जा रही थी। लोग बैंंक के मुख्य द्वार के बाहर एक साथ खड़े नजर आए। ५-७ लोग झुंड में दिखे। सुरक्षा गार्ड भी ग्राहकों को टोक नहीं रहे थे। पत्रिका टीम ने फोटो ली तो कुछ लोगों ने रूमाल से मुंह ढंका।

आरबीआई ने बैंकों में कामकाज को लेकर एडवाइजरी जारी की थी। इसमें बैंक में काम करते समय ग्राहकों के बीच सोशल डिस्पेंसिंग अनिवार्य है लेकिन रोजाना व्यवस्था बिगडऩे के बाद ज्यादातर बैंकों ने पुलिस की सहायता नहीं ली। बैंक के मुख्य द्वार, करेंसी चेस्ट, एटीएम, भवन, ऑफिस पार्र्किंग आदि रोजाना सैनिटाइज किया जाए लेकिन इस नियम की पालना अधिकांश बैंकों में नहीं दिखी। सभी बैंकों को एंट्री गेट पर सैनिटाइजेशन या साबुन पानी, वॉशसबेसिन की व्यवस्था नहीं है।
पुलिस कर सकती चालान
अगर कोई व्यक्ति बिना मास्क बाहर निकलता है तो पुलिस चालान बना सकती है। लेकिन पुलिस भी अब चालान नहीं बना रही है।
---
सभी बैंकों को दिए निर्देश
तीन दिन बैंक बंद थे। मंगलवार को खुलने के बाद से बैंकों में थोड़ी भीड़ आ रही है। इसका मुख्य कारण लॉकडाउन खुलना है। सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं होने की शिकायतें मिलने पर सबको मेल से कोरोना गाइडलाइन की पालना के निर्देश दिए।
अनिल आंचलिया, जिला अग्रणी प्रबन्धक

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned