चंवलेश्वर तीर्थ क्षेत्र में सब कुछ है लेकिन विकास का बीज बोने के लिए जमीन नहीं

चंवलेश्वर में आयोजित हो रहे धार्मिक कार्य

By: Suresh Jain

Updated: 06 Mar 2021, 09:35 AM IST

भीलवाड़ा।
व्यक्ति को दुनिया में सब कुछ मिलने के बाद उस वस्तु के उपयोग के बाद भी आनन्द की अनुभूति नही होती है। हमने कुछ पाया है, यह अहसास नही होता हंै। उसका मूल कारण है हम प्रतिदिन के कार्य को बीज नहीं बनाते है, जो कि वृद्धि को प्राप्त हो। उपलब्धियों की वृद्धि पर ही सुख की प्राप्ति होती है। लेकिन बीज मु_ी में अंकुरित नही होता है, उसके लिए खेत चाहिए। उस खेत को ही तुम्हे पहचानना है। जैसे चंवलेश्वर पाश्र्वनाथ क्षेत्र है, यहा सब कुछ है। भगवान है, उनका चमत्कार है, समाज है, श्रृद्धा है, धन भी है। इन सब बीज होने के बावजूद भी विकास नहीं हो पाया क्योंकि हमने खेत को नही पहचाना, जहां इन बीजों को बोया जाए। जैसे चंवलेश्वर के विकास के लिए जमीन चाहिए, वैसे ही मनुष्य को अपने विकास के लिए धर्म रुपी खेत चाहिए। तुम्हें सब कुछ मिला, मानव शरीर मिला, अच्छा कूल व धर्म मिला, फिर भी आगे विकास नही हो पा रहा है। एक इन्द्रिय जीव पेड, पौधे, त्रियेंच आदि का जीवन तो कर्म के आधिन चलता है। न उन्हें जीने की खबर है, न ही मरने की। वे कोई पुरुषार्थ नही कर सकते। यह बात निर्यापक मुनि सुधासागर महाराज ने शुक्रवार को चंवलेश्वर पाश्र्वनाथ अतिशय तीर्थ क्षेत्र में आयोजित धर्मसभा को सम्बोधित करते हुए कहीं।
उन्होंने कहा कि आम आदमी वस्तु को पाकर भी बीज नही बना पा रहा है, भोगने की लालसा में बीज को ही खा लेता है। रात को पाकर हम इतने गाफिल हो गए कि उसे भोग विलास ओर आराम में ही व्यर्थ कर देते है। सुबह उठने पर अतृत्प महसुस करते है। यह देखना है कि हर वस्तु जो तुम्हें मिली है, उसे बीज कैसे बनाए। आज की रोटी ही तुम्हारे हाथ में है, कल की कोई गारंटी नही। यह तो कोई ओर पर प्रत्येय है जो तुम्हारा कल संभालेगा। यह पर प्रत्येय धर्म रुपी खेत है, जिसमें तुम्हे जीवन में जो कुछ भी मिला है, उसके एक भाग को बीज के रुप में बोना है।
भीलवाड़ा आरके कॉलोनी के सदस्यों ने शुक्रवार को मुनि सुधासागर को आहर चर्या सतपाल पाटनी, कान्ता पाटनी, कमल नयन शाह, सुभाष हुमड़, अशोक गगंवाल, पिकीं शाह, अंजू पाटोदी आदि ने करवाई।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned