पूनम के फेफड़े से नहीं निकाला गया छर्रा, जोखिम मान टाला ऑपरेशन


https://www.patrika.com/rajasthan-news/

By: rajesh jain

Published: 18 Dec 2018, 01:00 AM IST

भीलवाड़ा।

चित्तौडग़ढ़ के ओछड़ी में रविवार को फायरिंग में घायल भीलवाड़ा की बास्केटबॉल खिलाड़ी पूनम जाटव (15) के फेफड़े के समीप धंसा छर्रा सोमवार को नहीं निकाला जा सका। हालांकि पूनम की हालत में सुधार है। पूनम अभी उदयपुर के निजी चिकित्सालय में भर्ती है। दूसरी तरफ फायरिंग की समूची घटना को लेकर अब सवाल उठने लगे है।

 

पूनम को पीठ में छर्रा धंसने पर पहले चितौडग़ढ़ व फिर उदयपुर के निजी चिकित्सालय में भर्ती कराया। सोमवार को छर्रा निकालने को ऑपरेशन होना था लेकिन छर्रा फेफड के समीप फंसा है। डॉक्टरों के अनुसार, उसे निकालने पर अन्य अंगों के क्षतिग्रस्त होने की अंदेशा है, लिहाजा अभी यह छर्रा नहीं निकाला जा सका। चिकित्सकों का कहना है कि एक छर्रा लगा है। इससे अंदरूनी अंगों को नुकसान नहीं पहुंचा है।

 

ये एेसी जगह अभी फंसा हुआ है, जो निकालने की स्थिति में नहीं है। इसके बावजूद उसकी सेहत में सुधार है। मालूम हो, कांवाखेड़ा की पूनम भीलवाड़ा की चार अन्य छात्राओं के साथ ओछड़ी में पढ़ाई करते बास्केटबॉल का प्रशिक्षण ले रही है। ओछड़ी में रविवार दोपहर अज्ञात युवक के देसी कट्टे से निकली गोली से पूनम गंभीर घायल हो गई।

घटना पर संदेह

इधर, घटना को लेकर पुलिस की जांच दूसरे दिन भी आगे नहीं बढ़ पाई। लोगों का मानना है कि घटना को दुर्घटना का रूप देने की कोशिश की जा रही है। फायरिंग श्वान पर नहीं हुई। ये वारदात है, जिसमें किसी रसूखदार केशामिल है, जिसे बचाने का प्रयास किया जा रहा है। खिलाडि़यों व कोच विजय बाबेल का कहना है कि पुलिस मामले की निष्पक्ष जांच करें, अन्यथा आंदोलन किया जाएगा।

rajesh jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned