भीलवाड़ा में बीक रही नकली दवा

भीलवाड़ा में बीक रही नकली दवा
Fake medicine being sold in Bhilwara

Suresh Jain | Publish: Aug, 11 2019 11:19:26 AM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

5 मेडिकल स्टोर पर छापे, 2 से उठाए 4 सेम्पल। प्रदेश में ऑन लाइन दवा खरीदने से नकली दवा का बढ़ा चलन

भीलवाड़ा।
Fake medicine औषधि नियंत्रण विभाग ने प्रदेश में ऑनलाइन दवा में नकली बेचने के खुलासे के बाद शनिवार को भीलवाड़ा में पांच मेडिकल स्टोर पर छापा मारा। भीलवाड़ा में भी नकली दवा बिकने का मामला सामने आया है। इससे अब विभाग में भी हड़कम्प मचा हुआ है।

https://www.patrika.com/jaipur-news/big-disclosed-here-expiry-medicines-sold-in-rajasthan-1-1841217/

Fake medicine जांच में दो स्टोर से चार संदिग्ध दवा के सेम्पल लिए गए। समान लगने वाली नकली दवा भीलवाड़ा आने का खुलासा शुक्रवार को जयपुर में ४० लाख की दवा जब्ती से हुआ। खबर है कि भीलवाड़ा में कई मेडिकल स्टोर कम्पनी से दवा न लेकर अंडरकटिंग के तहत अन्य डीलर से दवा खरीदते हैं, जो ऑनलाइन खरीदी गई होती है। Fake medicine यह बीपी, कॉर्डियोलॉजी, मानसिक तनाव व मस्तिक रोग से जुड़ी होती है। उसी कम्पनी की नकली दवा बाजार में बिक रही है।

 

औषधि नियंत्रण अधिकारी जितेन्द्र कुमार मीणा व विष्णु शर्मा ने नकली दवा की सूचना पर शनिवार को टीबी चिकित्सालय के आगे हर्ष मेडिकल्स, माणिक्यनगर की फार्मा सेल्स, सेवा सदन मार्ग स्थित संजीवन फार्मा, विनायक इन्टरप्राइजेज तथा आशुतोष फार्मा के छापे मारे। हर्ष से तीन तथा आशुतोष फार्मासे एक सेम्पल लिया गया। अन्य तीन स्टोर से सेम्पल नहीं लिए गए। सूचना मिलने पर सभी मेडिकल स्टोर संचालकों में हड़कम्प मच गया। एक बार दोपहर एक से तीन बजे तक दुकान बंद रख प्रदर्शन का निर्णय लिया लेकिन जिला प्रशासन ने स्वीकृति नहीं दी।

 

ब्रैंडनेम के नाम पर नकली
मीणा ने बताया कि कई ब्रैंडनेम के नाम पर नकली या मिलती जुलती दवा ऑनलाइन बेची जा रही है। दवा कंपनिया जहां रिटेलर को 16 व हॉलसेलर को 10 प्रतिशत कमीशन देती है। वहीं ऑनलाइन में कंपनियां २५ से ३० प्रतिशत का फायदा ग्राहक को ही दे रही है। ऐसे में नकली दवा कमाई का जरिया बन गया है।

 

मूल कंपनी सिक्किम की
दिल की बीमारी की दवा लोसार एच टेबलेट बैच संख्या 9 एफजेड 9 ई 047 निर्माता टोरेंट फॉर्मा सूटिकल लिमिटेड सिक्किम की दवा से मिलती जुलती दवा मिली, जिसकी खरीद कंपनी के बजाय ब्यावर के गदिया फार्मा व आहुजा इन्टरप्राइजेज श्रीगंगानगर से हुई। एलर्जी की मोनटेवर एफएक्स दवा व मानसिक तनाव की ट्रिप्टोमर २५ एमजी की टेबलेट भी संदिग्ध पाई गई।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned