खेती को अब मोबाइल का सहारा, किसान एप से ले रहे फसलों का ज्ञान, बुवाई से लेकर रखवाली तक मिल रही सलाह

खेती को अब मोबाइल का सहारा, किसान एप से ले रहे फसलों का ज्ञान,  बुवाई से लेकर रखवाली तक मिल रही सलाह

tej narayan | Publish: Aug, 13 2018 08:13:13 AM (IST) Bhilwara, Rajasthan, India

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

भीलवाड़ा।

समय के साथ किसान भी आधुनिक हो गए है। डिजिटल इंडिया की नई तस्वीर देखिए। अब किसान अपने खेत में कौनसी फसल बोएंगे और कब खाद देनी है। यह सब कुछ घर बैठे मोबाइल पर मिले संदेशों के आधार पर कर रहे हैं। कृषि विभाग ने किसानों के मोबाइल नंबर लिए है। अब वहां से हर फसल के लिए समय-समय पर चेतावनी संदेश जारी कर रहे हैं। इसमें बरसात होते बुवाई से लेकर कब खाद देनी है। कौनसी बीमारी पर क्या करना है यह सलाह दी जा रही है। खास बात है कि यह संदेश किसानों के मोबाइल पर हिंदी में आ रहे हैं। इससे किसानों की राह आसान हो गई है।

 

किसानों ने बताया कि पहले समय पर कृषि सलाह नहीं मिलने से मनमर्जी से दवा का उपयोग करते थे इससे फसल खराब का डर रहता था। अब कृषि विभाग की सलाह फसलों को जीवनदान मिलने लगा है। मोबाइल के बढ़ते उपयोग व इंटरनेट के उपयोग के कारण यह बदलाव आया है। सुवाणा के बद्रीलाल 25 सालों से खेती कर रहे हैं। अब मोबाइल एप के माध्यम से जानकारी लेते हैं। इससे किसानों की राह आसान हो गई है।

 

विभाग कर रहा खेती री बातां

इन दिनों गांवों में किसानों के पास भी एंडायड मोबाइल है। एेसे में कृषि विभाग की वेबसाइट पर खेती री बातां कॉलम है। इसमें कौनसी फसल के बारे में क्या सावधानी रखनी है यह जानकारी उपलब्ध करवाई गई है।

 

टोल फ्री नंबर पर भी मिल रहे जवाब

कृषि विभाग ने कई तरह के नंबर भी जारी कर रखे हैं। इन नंबरों पर किसान फोन कर खेती के बारे में जानकारी ले रहे हैं। साथ ही अभी फसलों में कौनसी बीमारी है और अब क्या सावधानी रखनी है इसके बारे में भी विभाग की ओर से मोबाइल पर संदेश भेजकर मार्गदर्शन दिया जा रहा है।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned