पिछली सरकार के पांच बड़े सपने कांग्रेस राज में होंगे पूरे

https://www.patrika.com/rajasthan-news/

By: rajesh jain

Updated: 18 Dec 2018, 08:36 PM IST

भीलवाड़ा।

निवर्तमान मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के कई सपने अधूरे रह गए। अब सरकार ही बदल गई है। एेसे में यह काम भी अटक गए हैं। राजे ने प्रदेश में खुद के विवेक के कई एेसे काम स्वीकृत किए जो अब गहलोत व पायलट सरकार के कार्यकाल में ही पूरे हो पाएंगे। इसमें सबसे बड़ा काम यह है कि निवृतमान सीएम वसुंधरा राजे की मां विजयाराजे सिंधिया के नाम पर भीलवाड़ा में मेडिकल कॉलेज बना है। यहां राजे की मां की प्रतिमा लग गई लेकिन आचार संहिता लग जाने से उसका अनावरण नहीं हो सका। इसी तरह राजे के कई बड़े सपने भीलवाड़ा में अधूरे रह गए।

 

जिला मुख्यालय सहित सभी उपखंड स्तर पर अंबेडकर भवन के निर्माण भी है। निवर्तमान सीएम राजे का सपना था कि हर उपखंड व जिला पर अंबेडकर भवन बनना चाहिए। इसके लिए पर्याप्त मात्रा में बजट भी दे दिया। परेशानी यह है कि समय पर बजरी नहीं मिली। एेसे में काम भी निर्धारित समय पर नहीं हो पाए। इस देरी में विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लग गई और काम भी धीमे पड़ गए।

 

विधानसभा चुनाव नजदीक रहने पर राज्य सरकार को विकास व निर्माण कार्यों का जल्दी उद्घाटन करने की चिंता सताई थी। मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने दो बार जिला कलक्टर, नगर विकास न्यास, नगर परिषद से जरूरी सूचना मांगी थी। इसमें प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में कितने काम शिलान्यास और कितने काम लोकार्पण के लायक है, इसकी रिपोर्ट मांगी गई थी। इस पर अफसरों ने आनन-फानन में घोषित किए गए कार्यों की जानकारी देकर बताया कि बजरी के कारण काम बंद है।

 

मेडिकल कॉलेज: प्रतिमा का नहीं हो सका अनावरण

 

क्या स्थिति: सांगानेर के पास विजयाराजे सिंधिया मेडिकल कॉलेज स्थापित किया गया है। मेडिकल कॉलेज के प्रवेश द्वार पर विजयाराजे सिंधिया की प्रतिमा लगी हुई है। इसका अनावरण भी राजे के हाथों से ही होना था लेकिन नहीं हो सका। अब सरकार भी बदल गई है। आचार संहिता से पहले राजे का भीलवाड़ा में कार्यक्रम बन गया था लेकिन गौरव यात्रा के चलते वापस टाल दिया। अब यह काम गहलोत राज में ही पूरा होगा। मेडिकल कॉलेज चालू हो गया लेकिन यहां कोई बड़ा कार्यक्रम नहीं हुआ है। अब इसके नामकरण को लेकर भी विवाद हो सकता है।

 

विजयाराजे औद्योगिक क्षेत्र: कोई खास काम नहीं हुआ

 

क्या स्थिति: सांगानेर के आगे यूआइटी की ओर से विजयाराजे इंडस्ट्रियल एरिया विकसित किया जाना है। कागजी कार्रवाई हो चुकी है। यूआइटी ने यहां सड़कें बनानी शुरू की थी। अभी तक यहां मौके पर कोई खास काम नहीं हुआ है। एेसे में यह प्रोजेक्ट भी अब अटक ही गया है। अब कांग्रेस सरकार अपने हिसाब से यह काम कराएगी।

 

अंबेडकर भवन: नहीं बन पाए

 

क्या स्थिति: वसुंधरा सरकार ने जिला मुख्यालय पर ६७ लाख खर्च कर अंबेडकर भवन बनवाने की घोषणा की थी। उपखंड स्तर पर 48-48 लाख में अंबेडकर भवन बन रहे हैं। नगर परिषद की ओर से कुवाड़ा के पास अंबेडकर भवन बनवाया जा रहा है। अब तक 50 फीसदी कार्य हुआ है।

 

सामुदायिक शौचालय: काम धीमा पड़ गया

 

क्या स्थिति: शहर में 14 सामुदायिक शौचालय बन रहे हैं। इनमें अच्छी सुविधाएं रहेगी। रोडवेज बस स्टैंड सहित विभिन्न कॉलोनियों में यह सामुदायिक शौचालय पूर्व सीएम राजे के निर्देश पर ही बन रहे थे। अब यह काम धीमा पड़ गया है। एेसे में इनका उद्घाटन गहलोत राज में ही होगा।

 

गौरव बेटी उद्यान: नहीं बना

 

क्या स्थिति: निवर्तमान सीएम राजे हर जिला मुख्यालय पर गौरव बेटी उद्यान बनाना चाहती थी। यूआइटी की ओर से शहर में गौरव बेटी उद्यान बनवाया जा रहा है। इसका काम अभी अधूरा है। इस पार्क में बेटियों के प्रति समाज में अच्छी सोच विकसित करने के लिए होर्डिंग्स, बोर्ड आदि लगाने की योजना थी।

 

rajesh jain
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned