सौ से अधिक किसानों के साथ हो चुकी ठगी, लेकिन प्रशासन मौन

पंडेर पुलिस ने भी दर्ज नहीं किया मामला
सौर ऊर्जा लगाने का मामला

By: Suresh Jain

Published: 23 Aug 2020, 02:03 AM IST

भीलवाड़ा .

उद्यान विभाग की ओर से चलाई जा रही सौर ऊर्जा योजना के नाम पर सौ से अधिक किसानो के साथ ठगी हो चुकी है, लेकिन जिला प्रशासन अब भी चुप्पी साधे बैठा है। विभाग के अधिकारी ने जिला कलक्टर को इसकी सूचना दे चुके है। उसके बाद भी न तो पण्डेर थाने में मामला दर्ज हो सका और ना ही किसानों को राहत मिल पाई है। विभाग के अनुसार सौर ऊर्जा योजना में सैकड़ों किसानों ने ऑनलाइन आवेदन किए है। किसानों ने ई-मित्र के माध्यम से आवेदन करने के दौरान किसी किसान ने 5 हजार तो किसी ने 12 हजार रुपए तक नकद राशि दी है। जबकि इस योजना में नकद राशि का कोई प्रावधान नहीं है। ई-मित्र के माध्यम से आवेदन करने के मात्र 40 रुपए या अधिकतम जानकारी के अभाव में 100 रुपए लिए जा सकते है।
इन किसानों ने उठाई आवाज
जहाजपुर पंचायत समिति के टिठोड़ी ग्राम के धन्नालाल सेन, पप्पू लाल माली, रतनलाल जाट, गोपाललाल जाट, किशनलाल जाट तथा पोलू लाल तेली ने सोर ऊर्जा के लिए आवेदन कर सौर ऊर्जा अजमेर तिराहे स्थित किसी नरेन्द से लगाने की बात कहीं। इस व्यक्ति ने हर किसान से 12-12 हजार रुपए नकद लिए। इसके अलावा 1.29 लाख रुपए और मांग रहा है। जबकि नकद राशि न देकर केवल सदस्य सचिव एचडीएस भीलवाड़ा के नाम पर आरटीजीएस या बैंक ड्राफ्ट से जमा करवाना होता है। किसानों सौर ऊर्जा लगवाने के लिए भीलवाड़ा के नरेन्द्र से सम्पर्क किया था। सभी पत्रावली भी उसे ने स्कीम प्रभारी के सामने पेश की थी। पत्रावली में लगे कोटेशन में किसानों के फर्जी हस्ताक्षर है, जिसकी शिकायत इन किासनों ने की है। नरेन्द्र न तो सरकारी कर्मचारी है और ना ही किसी सौर ऊर्जा कम्पनी का प्रतिनिधि।
गुरला के किसानों ने दिए 6 हजार रुपए
गुरला के एक किसान भारत ने बताया कि उसकी माता के नाम पर 27 नवम्बर 2018 को आवेदन किया था। आवेदन के साथ 6 हजार रुपए लिए गए थे। अब कनेक्शन आने की बात कहकर 1.15 लाख रुपए मांगे जा रहे है। जबकि 5 एचपी तक की मोटर के मात्र 90 हजार रुपए बैंक के माध्यम से जमा कराना पड़ता है। विभाग के अनुसार अब तक 15 अक्टूबर 2018 तक के आवेदनों के ही नम्बर आया है। जबकि गुरला के किसान ने 27 नवम्बर 2018 को आवेदन किया जिसका नम्बर फिलहाल नहीं आया है।
कासोरिया के आठ किसानों ने दिए पैसे
बनेड़ा तहसील के कासोरिया गांव के किसानों ने आवेदन करने के साथ 15 हजार 500 रुपए प्रत्येक ने दिए थे। इसकी शिकायत कासोरिया के सत्यनारायण, घीसू, रामकुवार, माधु, घासी, संतोष तथा बाबू ने की है। हुरड़ा के चतरपुरा के भंवर ने भी शिकायत की है। अधिकारियों का मानना है कि जिले में सौ से अधिक किसान सौर ऊर्जा के नाम पर ठगे जा चुके है। लेकिन पुलिस में मामला दर्ज नहीं हुआ है।
पुलिस कार्रवाई के लिए कलक्टर को लिखा पत्र
सौर ऊर्जा के नाम पर हो रही ठगी के खिलाफ पुलिस में मामला दर्ज कराने तथा दोषी के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए जिला कलक्टर को पत्र लिखा है। जिले में लगातार शिकायते मिल रही है। 100 से अधिक किसान ने नकद राशि दी है जिसकी जरूरत नहीं है। पुलिस इस मामले की गहनता से जांच करे तो बड़ी संख्या में किसान सामने आ सकते है।
आरके मीणा, सहायक निदेशक उद्यान
मुकदमा दर्ज कराने के दिए निर्देश
सोलर योजना के तहत अनुदान प्राप्त करने के लिए किसान ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। इसमें किसी भी निजी व्यक्ति या ई-मित्र संचालक को नकद राशि देने की जरूरत नहीं है। यदि कोई ऐसा फर्जीवाड़ा करता है तो उसके खिलाफ उद्यान विभाग में शिकायत कर सकते है। ऐसा लोगों के खिलाफ उद्यान विभाग मामला दर्ज कराएगा। ऐसा मामला सामने आने पर दोषी के खिलाफ मामला दर्ज करने के निर्देश उद्यान विभाग को दिए है।
शिवप्रसाद एम नकाते, जिला कलक्टर

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned