जंगल से उठा लाया चिंकारा का बच्चा, भेड़ ब​करियों की तरह घर में बांधा, फिर जो हुआ

जंगल से उठा लाया चिंकारा का बच्चा, भेड़ ब​करियों की तरह घर में बांधा,  फिर जो हुआ

tej narayan | Publish: Jul, 14 2018 10:10:10 AM (IST) Bhilwara, Rajasthan, India

वन विभाग की टीम ने लाडपुरा कस्बे से एक घर में बंधक बनाकर रखे गए चिंकारा को मुक्त कराया।

मांडलगढ़।

वन विभाग की टीम ने लाडपुरा कस्बे से एक घर में बंधक बनाकर रखे गए चिंकारा को मुक्त कराया। टीम ने मौके से आरोपित को गिरफ्तार किया। टीम मामले की जांच कर रही है।

 

READ: कांस्टेबल भर्ती परीक्षा: बंद इंटरनेट सेवा के बीच कांस्टेबल बनने आएंगे 22 हजार युवा, नकल गिरोह के सक्रिय होने की संभावना को देखते हुए प्रशासन मुस्तैद

 

क्षेत्रीय वन अधिकारी दाताराम वर्मा ने बताया कि लाडपुरा क्षेत्र के सत्तू कंजर के घर चिंकारा बंधे होने की सूचना पर वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। मौके पर भेड़ बकरियों के साथ एक चिंकारा का बच्चा भी बंधा हुआ था। टीम ने मौके से चिंकारा को मुक्त कराकर जंगल में छोड़ा। वहीं सत्तू कंजर को गिरफ्तार कर 11 हजार रुपए के मुचलके पर छोड़ा गया। वन विभाग की टीम मामले की जांच कर रही है।

 

READ: मजदूरी की कहकर घर से निकला युवक शाम को नहीं लौटा तो परिजनों ने तलाशा, जब उसे इस हाल में पाया तो परिजनों के उड़ गए होश, मच गई चीख पुकार

 

ट्रैक्टर में भरकर आई महिलाओं ने घायल प्रौढ़ पर लगाए गंभीर आरोप, भीलवाड़ा रैफर

बरुन्दनी।
सिंगोली सड़क मार्ग स्थित धाबाइयों की झूंपडिय़ा चौराहे पर शुक्रवार रात हुए एक घटनाक्रम में एक प्रौढ़ गम्भीर रूप से घायल हो गया। घायल को सिंगोली के राजकीय आदर्श प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र में प्राथमिक उपचार के बाद भीलवाड़ा रैफर किया गया। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तथा जांच शुरू की। इधर ट्रैक्टर में भरकर आए महिला पुरुषों प्रौढ़ पर गंभीर आरोप लगाते हुए उसके खिलाफ रिपोर्ट दी।

पुलिस के अनुसार धाबाइयों की झोंपडिय़ां चौराहे पर मोडू लाल बलाई गंभीर रूप से घायल अवस्था में पड़ा मिला। उसे उपचार के बाद भीलवाड़ा रैफर कर दिया गया। दूसरी तरफ धाबाईयों की झूंपडिय़ां के एक सौ ग्रामीण चौकी पहुंचे तथा मोडू पर गंभीर आरोप लगाते हुए रिपोर्ट दी। रात साढ़े दस बजे ग्रामीण उपखण्ड अधिकारी व पुलिस उपअधीक्षक से मिलने मांडलगढ रवाना हुए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned