स्टेटस के विवाद में दोस्त की हत्या, भीड़ पर पुलिस का बल प्रयोग

कोतवाली थाना क्षेत्र में सोशल मीडिया पर स्टेटस लगाने के विवाद को लेकर हुई चाकू बाजी में शनिवार दोपहर युवक की मौत हो गई। इस घटना को लेकर रविवार सुबह सूचना केन्द्र पर परिजनों ने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रास्ता रोकने की कोशिश की। कोतवाली पुलिस ने बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ दिया। वही पुलिस ने शव का मेडिकल बोर्ड से अन्त्य परीक्षण कराया।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 25 Oct 2020, 12:17 PM IST


भीलवाड़ा। कोतवाली थाना क्षेत्र में सोशल मीडिया पर स्टेटस लगाने के विवाद को लेकर हुई चाकू बाजी में शनिवार दोपहर युवक की मौत हो गई। इस घटना को लेकर रविवार सुबह सूचना केन्द्र पर परिजनों ने आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रास्ता रोकने की कोशिश की। कोतवाली पुलिस ने बल प्रयोग कर भीड़ को खदेड़ दिया। वही पुलिस ने शव का मेडिकल बोर्ड से अन्त्य परीक्षण कराया।

हरणी महादेव मंदिर रोड स्थित ओडा का खेड़ा में गत दिनों सोशल मीडिया पर स्टेट्स अपलोड को लेकर दीपक (१८) पुत्र अंबालाल ओड व अभिषेक ओड के बीच झगड़ा हो गया था। ऐसे मेंं दोनों के बीच तनातनी बढ़ गई। शनिवार को दुर्गाष्टमी पर्व होने से ओड समाज के लोग स्मृति वन के समीप स्थित धार्मिक स्थल पर पूजा के लिए एकत्रित हुए। यहां अभिषेक अपने दोस्त चचेरे भाई विकास (२०) पुत्र श्यामलाल ओड के साथ मौजूद था। दीपक व अभिषेक यहां फिर पुराने विवाद को लेकर आमने सामने हो गए और एक दूसरे से मारपीट करने लगे। तैश में आ कर दोनों ने चाकू निकाल लिए । विकास बीच बचाव में आया तो उसे चाकू लग गया, जबकि दीपक के पेट में भी चाकू से वार हुए।

एक दूसरे पर चाकू से हमला
चाकूबाजी की घटना से दोनों ही पक्षों के परिजन भी आपस में मारपीट पर उतर आए। इस दौरान एक दूसरे पर पत्थर भी फेंके। चाकू के हमले में विकास व दीपक के निढ़ाल हो कर गिरने पर यहां मौजूद लोगों के होश उड़ गए। समाज के लोग चाकू के हमले में घायल विकास व दीपक को एमजी होस्पीटल लाए। यहां चिकित्सकों ने विकास को मृत घोषित कर दिया। जबकि दीपक की हालत गंभीर होने पर उसे भर्ती किया गया। अत्याधिक रक्तस्राव गहरे घाव होने से दीपक को देर शाम उदयपुर रैफर कर दिया। इसी प्रकार पथराव की घटना में घायल हुए मृतक विकास की मां बसंती देवी (४०) पत्नी श्यामलाल तथा दीपक के पिता अंबालाल ओड (४०) को चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। पथराव में श्यामलाल के भी सिर में चोट आई।

एमजी के बाहर बिलखे परिजन
कोतवाली प्रभारी नेमीचंद मय जाप्ता ओडा का खेड़ा मेंं पहुंचे और स्थिति को नियंत्रित किया। जबकि सुभाषनगर थाना प्रभारी पुष्पा कसोटिया व भीमगंज थाना प्रभारी प्रकाश भाटी एमजी होस्पीटल पहुंचे। यहां बड़ी संख्या में ओड समाज के लोग एकत्रित हो गए और बिलखने लगे। इनमे से कईयों ने होस्पीटल में भर्ती घायलों से मिलने की कोशिश की तो आरएसी व पुलिस जाप्ते ने रोक लिया। इससे हंगामे के हालात हो गए। यहां ओड समाज की कई महिलाएं तो गश खा कर अचेत हो गई।

सभी आपस में रिश्तेदार
थाना प्रभारी नेमीचंद चौधरी ने बताया कि दोनों ही पक्ष आपस में रिश्तेदार है। स्टेटस के विवाद को लेकर समूचा घटनाक्रम हुआ। मृतक के पिता श्याम लाल व दीपक के पिता अंबालाल की तरफ से परस्पर मामले दर्ज हुए है। शव का पोस्टमार्टम रविवार को किया गया।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned