घर-घर विराजे गजानन, दस दिन तक होगी पूजा-अर्चना

गणेश मंदिर में हुई आरती, नहीं भरा मेला

By: Suresh Jain

Updated: 11 Sep 2021, 09:49 AM IST

भीलवाड़ा।
'गणपति बप्पा मोरिया, मंगल मूर्ति मोरिया ...जयघोष के बीच विधि-विधान से शुक्रवार को घर-घर में भगवान गणपति की स्थापना की गई। अब १९ सितम्बर तक गजानन घरों में विराजेंगे। गणेश चतुर्थी पर मंदिरों में विशेष अनुष्ठान, पूजा-अर्चना व अभिषेक हुए। भक्तों ने गणपति जी को प्रिय मोदक का भोग लगाया। भक्तों ने दुनिया से कोरोना के जल्द नाश होने की कामना की। कोरोना महामारी को देखते हुए इस साल भी गणपति महोत्सव के सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं हो रहे हैं।
शहर में गांधी नगर स्थित सबसे प्राचीन गणेश मंदिर, रोडवेज बस स्टैंड स्थित गणेश मंदिर, नेहरू रोड स्थित शिव बालाजी रोकडिय़ा गणेश मंदिर सहित अन्य मंदिरों में सुबह से ही पूजा अर्चना के कार्यक्रम हुए। गांधीनगर स्थित गणेश मंदिर में पूजारी दोपहर १२ बजे महाआरती हुई। कोरोना के कारण इस साल भी यहां मेला नही भरा। रोकडिय़ा गणेश मंदिर में सुबह गणेश जी तथा २१ फीट के बड़े गणेश जी का अभिषेक किया गया। हवन की पूर्णाहुति हुई। मंदिर संरक्षक अशोक बाहेती, चांदमल सोमानी, प्रकाश शाह सहित अन्य भक्तों ने अभिषेक किया। यहां छप्पन भोग की झांकी सजाई गई और आरती की गई। भक्तों ने दर्शनों का लाभ लिया।
अपनाघर में गणेश महोत्सव का शुभारंभ
गणेश उत्सव प्रबंध एवं सेवा समिति की ओर से प्रतीकात्मक रूप से गणपति प्रतिमा का विधिवत पूजन कर महोत्सव का शुभारंभ किया। अपना घर वृद्धाश्रम में हुए कार्यक्रम में प्रात: 9 बजे पंडित कल्याण शर्मा के नेतृत्व में 5 पंडितों ने गणपति का विशेष श्रृंगार किया गया। समिति संरक्षक एवं उद्योगपति आरएल नौलखा ने कहा कि कोरोना के चलते परंपरागत गणेश महोत्सव श्रद्धा एवं सादगी पूर्ण मनाएं। इस मौके पर उद्योगपति विश्वेश्वर तिवारी, ओपी हिंगड़, गजानन बजाज, हरीश अग्रवाल, जगदीश सोमानी, रामेश्वर तोषनीवाल समिति अध्यक्ष उदयलाल समदानी, मंत्री ओमप्रकाश बुलिया, कोषाध्यक्ष सुभाष गर्ग, मधु शर्मा, रेखा शर्मा, शिव डीडवानिया, इंदू बंसल आदि उपस्थित थे। समिति प्रवक्ता महावीर समदानी ने बताया कि गत 28 वर्षों से समिति गणपति की मूर्तियां बनाकर उन्हें गली, मोहल्ला, चौराहे पर विभिन्न गणेश आयोजन समितियों को वितरित करती आई है, लेकिन इस बार कोविड गाइडलाइन के कारण मूर्तियों का वितरण नहीं हुआ।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned