75 लाख के कपड़ा लूट मामले में सरगना अजमेर जेल से गिरफ्तार

75 लाख के कपड़ा लूट मामले में सरगना अजमेर जेल से गिरफ्तार

Tej Narayan Sharma | Publish: Sep, 12 2018 09:53:13 AM (IST) Bhilwara, Rajasthan, India


https://www.patrika.com/rajasthan-news/

रायला।

पुलिस ने अजमेर राजमार्ग पर 75 लाख रुपए के कपड़े से भरा ट्रक लूटने के मामले में सरगना को अजमेर जेल से मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में छह जने पूर्व में गिरफ्तार कर जेल जा चुका है। सरगना जेल में बंद चमारीखेड़ा (बागोर) निवासी सद्दाम को गिरफ्तार कर लाया गया। वह हत्या के मामले में सजा काट रहा है। उसने जेल में रहते अपने साथियों की मदद से वारदात को अंजाम दिलाया।

 

गत 31 जुलाई को भीलवाड़ा से ट्रांसपोर्ट कम्पनी से अलवर के चालक माकू तौफीक मेव 18 टन कपड़ों की गांठें ट्रक में लादकर रात में दिल्ली रवाना हुआ था। ईरास चौराहे के निकट कार में आए चारों जनों ने ट्रक रुकवाया और चालक को बंधक बना लिया। एक आरोपी ट्रक लेकर रवाना हो गया। आरोपी करीब दस किलोमीटर गांगलास के निकट चालक के हाथ-पैर बांध जंगल में पटककर ट्रक लेकर भाग गए थे।

 

भाई की गिरफ्तारी पर विधायक धीरज ने पुलिस को आरोपों में घेरा

भीलवाड़ा. जहाजपुर से कांग्रेस विधायक धीरज गुर्जर का आरोप है कि जिस मामले में उनके भाई नीरज गुर्जर को एक साल पहले न्यायालय ने बरी कर दिया था। पुलिस ने राजनीतिक दबाव के चलते उसकी मामले में वारंट दिखाकर गिरफ्तार किया। यह न्यायालय के आदेश की अवेहलना है। इसके विरोध में 14 सितम्बर को अजमेर स्थित पुलिस महानिरीक्षक कार्यालय के बाहर धरना दिया जाएगा।

 

विधायक गुर्जर ने मंगलवार को यहां जिला कांग्रेस कार्यालय में संवाददाताओं बातचीत में आरोप लगाया कि विधानसभा चुनाव को देखते हुए पुलिस भाजपा नेताओं के इशारे पर राजनीतिक द्वेषता से कार्रवाई कर कांग्रेस नेताओं को झूठे मामलों में फंसा रही है। नीरज के मामले में न केवल स्थाई वारंट में जमानत एक वर्ष पूर्व मिल गए थी, बल्कि न्यायालय ने एक वर्ष पूर्व दोषमुक्त कर दिया था।

 

कांग्रेस जिलाध्यक्ष रामपाल शर्मा ने कहा कि गंगापुर में भी बंद के दौरान प्रार्थी ने कहासुनी के मामले में एफआइआर वापस लेकर मामला समाप्त करना चाहा, तो पुलिस ने उलटा कांग्रेस के पांच कार्यकर्ताओं को आरोपित बना दिया।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

Ad Block is Banned