scriptGardens of 287 Anganwadi centers are giving nutrients to the children | Nutrition garden In Bhilwara : 287 आंगनबाड़ी केंद्रों की वाटिकाएं दे रही बच्चों को पोषक तत्व | Patrika News

Nutrition garden In Bhilwara : 287 आंगनबाड़ी केंद्रों की वाटिकाएं दे रही बच्चों को पोषक तत्व

2000 रुपए की लागत से केंद्रों पर तैयार की पोषण वाटिका

भीलवाड़ा

Updated: January 18, 2022 11:21:25 am

Nutrition garden In Bhilwara : भीलवाड़ा जिले के 287 आंगनबाड़ी केन्द्रों में पोषण वाटिकाएं विकसित की गई है। इससे गर्भवती महिलाओं व बच्चों को पोषक तत्वों के साथ ताजा सब्जियों का स्वाद मिल रहा है। आंगनबाड़ी केन्द्रों में बच्चों तथा गर्भवती महिलाओं को संतुलित पोषक तत्वों से युक्त ताजा आहार उपलब्ध हो रहा है। जिले की 287 केंद्रों पर पोषण वाटिका बनाई जा चुकी है। इसमें नीति आयोग की ओर से कुछ राशि स्वीकृत की गई है। इनसे प्रत्येक ब्लॉक में विभागीय भवनों के केंद्रों में प्रति केंद्र 2000 रुपए की लागत से पोषण वाटिका विकसित की गई।
Nutrition garden In Bhilwara : 287 आंगनबाड़ी केंद्रों की वाटिकाएं दे रही बच्चों को पोषक तत्व
Nutrition garden In Bhilwara : 287 आंगनबाड़ी केंद्रों की वाटिकाएं दे रही बच्चों को पोषक तत्व
पोषण वाटिका से हर मौसम में ताजी सब्जी उपलब्ध होगी। हरे भरे वातावरण से वायु का शुद्धिकरण रहेगा। ताजे फलों और हरी सब्जियों सेवन से कमजोर एवं कुपोषित बच्चों के शरीर में सही मात्रा में पोषक तत्वों की भरपाई होगी। गर्भवती और धात्री महिलाओं के स्वास्थ में वृद्धि होगी। इससे शारीरिक तथा मानसिक विकास हो सकेगा। पौधारोपण होने के बाद गांव में ज्यादा से ज्यादा जनभागीदारी से इसकी सुरक्षा का इंतजाम भी किया जाएगा।
----
हर तरह के लगेंगे पौधे
मनरेगा व एनआरएलएम आदि योजनाओं के माध्यम से ऐसे न्यूट्री गार्डन का विकास किया जाएगा। इसमें पोषण अभियान की राशि का पौधों की खरीद फेंसिंग ट्री गार्ड मेटेरियल ग्रीन नेट आदि पर खर्च किया जाए। वाटिका के विकास में मुख्यत: तीन प्रकार के पौधों को लगाया जाएगा। वाटिका की लाइव फेन्सिंग के लिए मेहंदी, करौंदे, संतरे, नींबू आदि के पौधे लगाए जाएंगे। जिन्हें सामान्यत: पशु नहीं खाते है फलों के पौधों में नींबू, अमरूद, केला, पपीता, अनार, बेर, आम, आंवला, किन्नू, बील, संतरा, जामुन के पौधे और सब्जियों में भिंडी, लौकी, तोरई, टमाटर, मिर्ची, धनिया, पुदीना, प्याज, आलू, मटर, खीरा, ककड़ी, पालक, चौलाई आदि पौधे एवं औषधीय पौधों में तुलसी, गिलोय व एलोवेरा पौधों को मौसम अनुसार लगाकर पोषण वाटिका का विकास किया जाए।
----
पहले एक हजार दिन मिले अच्छा पोषण
पोषण अभियान का मुख्य उद्देश्य है की बालकों को प्रथम 1000 दिन में अच्छा पोषण मिले तथा एनीमिया से मुक्ति विटामिन प्रोटीन युक्त भोजन मिलने की दिशा में यह कारगर प्रयास सिद्ध होगा। यह न्यूट्री गार्डन बच्चों वह महिलाओं को आंगनबाड़ी केंद्र पर आने के लिए प्रेरित करेगा। इससे उनका पोषण टीकाकरण व प्रारंभिक शिक्षा से उनका जुड़ाव हो सकेगा। इसके लिए समय-समय पर आंगनबाड़ी केंद्रों पर सामुदायिक गतिविधियां कराई जाती है।
नागेन्द्रसिंह तोलम्बिया, सहायक निदेशक महिला अधिकारिता विभाग भीलवाड़ा
---------------
ब्लॉक गार्डन
आसीन्द २०
बनेड़ा १६
भीलवाड़ा ५
हुरड़ा २०
जहाजपुर १२
कोटड़ी ५३
मांडल २३
मांडलगढ़ ३५
रायपुर ३५
सहाड़ा २४
शाहपुरा ३०
सुवाणा १४
कुल योग २८७

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.