scriptGovernment departments are not paying electricity bills only | Bhilwara Government departments सरकारी महकमें ही नहीं चुका रहे बिजली के बिल, करोड़ों की बाकियात | Patrika News

Bhilwara Government departments सरकारी महकमें ही नहीं चुका रहे बिजली के बिल, करोड़ों की बाकियात

bhilwara Government departments are not paying electricity bills भीलवाड़ा जिले में एक दो नहीं वरन दर्जनों सरकारी महकमें अजमेर डिस्कॉम की उधार की बिजली से रोशन हो रहे हैं। मजे की बात तो यह है कि शहर से लेकर गांवों की रोड लाइट में लाखों की बाकियात को लेकर बिजली विभाग ग्राम पंचायतों व शहरी निकायों को दर्जनों letter लिख चुका है। कलक्ट्रेट स्थित कई सरकारी विभागों में भी बाकियात का ग्राफ बढ़ता जा रहा है, जिले में बाकियात का आंकड़ा 35 करोड़ को पार कर गया है।

भीलवाड़ा

Published: January 21, 2022 12:48:23 pm

नरेन्द्र वर्मा ~ भीलवाड़ा। जिले में एक दो नहीं वरन दर्जनों सरकारी महकमें अजमेर डिस्कॉम की उधार की बिजली से रोशन हो रहे हैं। मजे की बात तो यह है कि शहर से लेकर गांवों की रोड लाइट में लाखों की बाकियात को लेकर बिजली विभाग ग्राम पंचायतों व शहरी निकायों को दर्जनों letter लिख चुका है। कलक्ट्रेट स्थित कई सरकारी विभागों में भी बाकियात का ग्राफ बढ़ता जा रहा है, इतना ही नहीं जलदाय विभाग भी जिले के कई हिस्सों में उधार की बिजली से लोगों की प्यास बुझा रहा है। जिले में बाकियात का आंकड़ा 35 करोड़ को पार कर गया है। बिजली विभाग ने बाकियात वसूल नहीं होने पर कुछ गांवों व विभागों की बिजली काटने की भी तैयारी कर ली है। Government departments are not paying electricity bills only
bhilwara Government departments are not paying electricity bills
bhilwara Government departments are not paying electricity bills
प्रदेश में सरकार बिजली चोरी रोकने एवं छीजत रोकने के लिए प्रयासरत है, अजमेर डिस्कॉम विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के जरिए कच्ची बस्तियों में रियायती दर पर बिजली कनेक्शन दे रहा है। इसी प्रकार शहर एवं न्यास के पेराफेरी क्षेत्र में संबंधित विभाग भूमिगत लाइनें बिछाकर सड़कों को पोल लैस करने में जुटे हं। सरकार के तमाम प्रयास के बावजूद शहर एवं जिले में कई गांव ऐसे है, जो आज भी चोरी की बिजली से रोशन हो रहे है। उनमें जहाजपुर, पण्डेर, शाहपुरा, मांडलगढ़, गंगापुर, आसींद क्षेत्र के दर्जनों गांव शामिल है।
आम जनता पर ही गाज
बिजली चोरी को रोकने के लिए विभाग छापे मार कार्यवाही के साथ विभिन्न स्तर पर कार्यवाही कर रहा है, आम उपभोक्ताओं के बिल नहीं भरने पर जुर्माना समेत राशि वसूल रहा है, इसके बावजूद उपभोक्ता के नहीं मानने पर उनके घरेलू व अन्य श्रेणियों के बिल काटने में कतई देरी नहीं की जा रही है, इसके विपरीत सरकारी महकमों में बिजली बिलों की बाकियात का मीटर लगातार दौड़ता जा रहा है। Government departments are not paying electricity bills only
बजट नहीं होने की दुहाई
अजमेर विद्युत वितरण निगम भीलवाड़ा वृत्त का राजस्व रिकार्ड बता रहा है कि वृत्त के अधीन सरकारी महकमों में बाकियात का बिल कम होने का नाम ही नहीं ले रहा है। विभाग के नोटिस व कनेक्शन काटने की चेतावनी के बावजूद समय पर बिजली के बिल नहीं भरे जा रहे हैं। ग्राम पंचायत बजट नहीं आने की दुहाई दे रही है, सरकारी महकमें भी बजट आने वाला की रट लंबे समय से लगाए हुए है।
उधारी में बुझा रहे है प्यास
अजमेर डिस्कॉम के आंकड़े बताते है कि विभाग सर्वाधिक 15 करोड़ 10 लाख रुपए नगर परिषद, नगर विकास न्यास एवं नगर पालिकाओं में मांग रही है। इनमें नौ करोड़ की बाकियात केवल भीलवाड़ा शहर की है। जिले में जलदाय विभाग का घरों के बाहर लगा मीटर चाहे बंद होगा, लेकिन बाकियात का मीटर चालू है। बिजली विभाग ने जलदाय विभाग में एक करोड़ 92 लाख 29 हजार रुपए की बाकियात निकाल रखी है। इसी प्रकार जनता जलयोजना में भी विभाग का नौ करोड़ 20 लाख 16 हजार रुपए बाकी है। ग्राम पंचायतों में भी डिस्कॉम की सात करोड़ 37 लाख रुपए की बाकियात फंसी है।
थानों व चौकियोंं में भी बाकियात
पुलिस महकमे के भी कई थाने व चौकी भवन उधारी की बिजली से रोशन है। पुलिस महकमें में 30 लाख 37 हजार की बकाया राशि की वसूली को लेकर भी विभाग चिट्टी जारी कर चुका है। प्रशासनिक भवनों व उपखंड मुख्यालयों में भी विभाग की 38 लाख रुपए की उधारी है। केन्द्र सरकार के कई विभाग भी बिल चुकाने के प्रति गंभीर नहीं है। उन्हें भी 39.62 लाख रुपए चुकाने है। जबकि छोटे मोट कई सरकारी विभागों में भी बाकियात 90 लाख रुपए से अधिक है, इतना ही नहीं शहर की बिजली आपूर्ति व्यवस्था संभाल रहे सिक्योर मीटर्स में भी नौ करोड़ 44 लाख की बाकियात है, हालांकि यह बाकियात शहर की रोड लाइट, नगर परिषद से ही संबंधित है।
सरकारी महकमों में सर्वाधिक बाकियात
जिले में बिजली चोरी रोकने एवं छीजत को कम करने के लिए असरकारक प्रयास जारी है, विभिन्न योजनाओं के जरिए आम जनों को बिजली कनेक्शन दिए जा रहे है। सरकारी महकमों में 35 करोड़ से अधिक के बिजली उपभोग के बिल अटकें हुए है। संबंधित विभागों को भी बड़ी बाकियात होने पर नोटिस थमाए जा चुके है, यदि समय रहते बिलों का भुगतान नहीं हुआ तो जुर्माना तो लगेगा ही साथ में कनेक्शन भी काटे जाएंगे। शहर में घरेलू श्रेणी में बाकियात समय पर वसूल की जा रही है।
एसके उपाध्याय, अधीक्षण अभियंता, भीलवाड़ा वृत्त

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.