कोरोना से जुड़े तथ्य छुपाने में लगी सरकार

जिला प्रशासन ने सभी आंकड़े जारी करने पर लगाई रोक

By: Suresh Jain

Published: 17 Sep 2020, 12:03 AM IST

भीलवाड़ा .
कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ता जा रहा है और चिकित्सा विभाग ने अब पॉजिटिव के आंकड़ों की जानकारी को जारी करना बंद कर दिया है। जबकि विभाग की ओर से कोरोना संक्रमण महामारी शुरू होने से नियमित रूप से पॉजिटिव कितने और कौन-कौन से क्षेत्र से आए हैं, इसकी जानकारी साझा की जाती थी। लेकिन पिछले 8-10 दिनों से इस पर रोक लगा दी है। केवल संख्या जारी की जा रही है। इस पर भी पाबन्दी लगाई जा रही है। बताया जा रहा है कि अब सरकार की ओर से भी चिकित्सा अधिकारियों पर दबाब डाला जा रहा है कि जितने पॉजिटिव आ रहे है उनमें से कुछ प्रतिशत आंकड़े ही मीडिया में जारी करे वह भी केवल संख्या में की आज कितने कोरोना संक्रमित आए है।
जिले में चिकित्सा विभाग के सीएमएचओ की ओर से रोजाना नियमित रूप से तीन से चार बार सूचना जारी की जाती थी। जिससे पॉजिटिव के साथ आस-पास वालों को भी पता चल जाता था कि यहां पॉजिटिव आया है और लोग अलर्ट रहते थे। लेकिन अब किसी को पता ही नहीं चलता है कि किस क्षेत्र में कहां पर संक्रमित मिला है। इससे लोगों में असमंजस की स्थिति पैदा हो रही है।
बुलेटिन पर भी लग गई पाबंदी
जिले में सूची जारी करने के साथ शाम 7 बजे एक बुलेटिन भी जारी होता था। जिसमें जिले में पूरे दिन के सैम्पलिंग, पॉजिटिव, डेथ, नेेगेटिव, डिस्चार्ज सहित पूरी जानकारी दी जाती थी। लेकिन इसे भी पिछले कई दिनों से पूरी तरह बंद कर दिया गया है।
विभाग की वेबसाइट और स्थानीय आंकड़े अलग-अलग
जिले में संक्रमितों की संख्या बुधवार सुबह तक ४२३९ से अधिक है। लेकिन १६ सितम्बर को विभाग की वेबसाइट पर इनकी संख्या २६६८ ही था। वहीं मौतों के आंकड़ों में ऐसा ही चल रहा है। प्रदेश की सूची में १७ बताई जा रही है जबकि विभाग के अधिकारी तक जिले में ५० मौतों की पुष्टि कर चुके हैं। इन दोनों के अन्तर से संक्रमितों की संख्या में १५७१ का अन्तर चल रहा है। जबकि जिला स्तर से आंकड़े शाम आठ बजे तक अपडेट भेजे जा रहे है। सरकार ऐसा क्यों करना चाह रही है इसके पिछे सरकार की क्या मंशा है इसकी किसी को जानकारी तक नहीं है।
तथ्य छुपाने से नहीं सक्रियता से दूर होगा कोरोना
चिकित्सा विभाग व जिला प्रशासन कोरोना संक्रमितों के तथ्य छुपाने का काम कर रहे है। जबकि कोरोना तथ्य छुपाने से नहीं बल्कि अधिकारियों की सक्रियता से दूर होगा। जिला कलक्टर से भी इस मामले में चर्चा कर चुके है। कोरोना में जिला प्रशासन की लापरवाही साफ नजर आ रही है। इस मामले को प्रदेश स्तर तक उठाया जाएगा। समय रहते कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया तो भयावह स्थिति हो सकती है। कोरोना से बचाव के लिए सभी को सजग रहना होगा।
लादूलाल तेली, जिलाध्यक्ष भाजपा

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned