जिंदगी पर भारी पड़ गई इनकी एक गलती

जिंदगी पर भारी पड़ गई इनकी एक गलती
जिंदगी पर भारी पड़ गई इनकी एक गलती

Jasraj Ojha | Updated: 13 Sep 2019, 08:21:56 PM (IST) Bhilwara, Bhilwara, Rajasthan, India

patrika.com/rajsthan news


भीलवाड़ा. यह सिर्फ खबर ही नहंी बल्कि आमजन के लिए एक बहुत बड़ी चेतावनी है। इसे पढ़कर आपस में चर्चा कर अपने परिचित को जरूर सावधान करें। चौंकाने वाली बात है कि मानसून सीजन में लोगों का पिकनिक पर जाकर मौज मस्ती के दौरान लापरवाही बरतना भारी पड़ रहा है। यह लापरवाही एेसी है कि अब तक करीब २० से ज्यादा परिवारों के चिराग बुझ गए हैं। कोई स्कूल में पढऩे के लिए गया तो कोई नौकरी करने परदेश से यहां आया। मौका मिला तो दोस्तों के साथ पिकनिक मनाने चले गए। इन तालाब, एनिकट, नदियों में कहीं सेल्फी के चक्कर में जान गई तो कहीं तालाब में नहाने के चक्कर में डूब गए। इसके बावजूद भी इन जलाशयों पर न तो सुरक्षा के पूरे इंतजाम नहीं है और न ही अभिभावक जागरुक हुए हैं। एेसे में आए दिन हादसे हो रहे हैं।
----------------
यहां है सबसे ज्यादा खतरा
मेनाल का झरना पूरे वैग से बह रहा है। इसमें नहाने में सावधानी बरते। पानी इतना तेज बह रहा है कि चंद सेकंड में पानी के साथ नीचे बह सकते हैं। मात्रकुंडिया बांध के सारे गेट खोल दिए हैं। इससे बनास में अच्छा पानी बह रहा है। मंगरोप, हमीरगढ़ क्षेत्र में पुलिया छोटे हैं। एेसे में पार करने में सावधानी बरते। मेजा फीडर, सभी एनिकट, तालाब आदि में पानी है। एेसे में लापरवाही भारी पड़ सकती है।
------------
यह रखे सावधानी
-जलाशयों में नहाने के दौरान सावधानी रखे। गहरे पानी में नहीं जाए।
-सेल्फी के चक्कर में नहीं पड़े।
-नशा आदि करके जलाशयों के पास नहीं जाए।

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned