scriptHotel and marriage garden will have to be allowed to operate ina month | होटल व मैरिज गार्डन को प्रदूषण नियंत्रण मंडल से एक माह में लेनी होगी संचालन की अनुमति | Patrika News

होटल व मैरिज गार्डन को प्रदूषण नियंत्रण मंडल से एक माह में लेनी होगी संचालन की अनुमति

करने होंगे प्रदूषण को थामने के इंतजाम, एक माह बाद कार्रवाई संभव

भीलवाड़ा

Published: August 04, 2021 08:18:06 am

भीलवाड़ा।
जिले में 500 से अधिक विवाह स्थल और बैंक्वेट हॉल (पंजीकृत व अपंजीकृत) संचालकों को प्रदूषण नियंत्रण के इंतजाम करने होंगे। स्थानीय निकाय के दायरे में आने वाले विवाह स्थलों पर अब राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण मण्डल बोर्ड ने भी शिकंजा कसा है। होटल, रेस्टोरेंट के लिए प्रभावी गाइडलाइन में विवाह स्थल और बैंक्वेट हाल को शामिल किया है। संचालकों को वेस्ट वाटर, ठोस अपशिष्ट, ध्वनि व वायु प्रदूषण, ऊर्जा संरक्षण के मानकों की सख्ती से पालना करना अनिवार्य कर दिया है। पालना नहीं करने पर भी संचालन की अनुमति निरस्त हो सकेगी।
इन 8 चरण की पालना जरूरी
- अपशिष्ट-अपशिष्ट में से तेल एवं ग्रीस (चिकनाई) अलग करने के लिए वैज्ञानिक तरीके से ऑयल व ग्रीस ट्रेप का निर्माण करना होगा।
- वायु प्रदूषण- खाना बनाने, पकाने में स्वच्छ ईंधन (पीएनजी, सीएनजी, एलपीजी) का ही उपयोग। जनरेटर सेट और बॉयलर में केवल क्लीनर फ्यूल इस्तेमाल की अनुमति होगी। परिसर में केवल एकॉस्टिक एनक्लोजर एवं पर्याप्त ऊंचाई की चिमनी के जनरेट सेट लगाए जाएंगे।
- ध्वनि प्रदूषण- लाउडस्पीकर, डीजे, आतिशबाजी पर नियंत्रण ध्वनि प्रदूषण (विनियमन एवं नियंत्रण) नियम 2020 के प्रावधान की पालना।
- भूजल दोहन- बोरवेल पर वाटर मीटर लगाकर लॉग बुक की व्यवस्था। जहां भूजल दोहन 10 किलोलीटर प्रतिदिन या अधिक है, वहां केन्द्रीय भूजल प्राधिकरण से स्वीकृति लेनी होगी।
- जल संरक्षण- जहां भूजल दोहन कर रहे हैं वहां अनिवार्य रूप से वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाना। वेस्ट वाटर को परिशोधित कर पुन: उपयोग में लेना।
- ऊर्जा संरक्षण- डीजल जनरेटर सेट की बजाय इनवर्टर उपयोग को प्रोत्साहन करना। एलईडी ब्लब, ट्यूबलाइट का ही उपयोग हो।
- ठोस कचरा प्रबंधन- 100 किलो प्रतिदिन से अधिक कचरा उत्पन्न करने पर सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट नियम की पालना अनिवार्य। बायोडीग्रेडेबल कचरे से जैविक खाद बनाना।
- प्लास्टिक वेस्ट- प्लास्टिक वेस्ट निस्तारण की व्यवस्था प्लास्टिक वेस्ट (प्रबंधन) नियम कर पालना।
नए और मौजूदा विवाह स्थलोंं के लिए
नए विवाह स्थल- अनुमति आवेदन में प्रदूषण स्त्रोत व उसके निवारण की फिजिबिलिटी रिपोर्ट, जमीन आवंटन व रूपांतरण या स्वामित्व का स्थानीय निकाय का अनापत्ति प्रमाण पत्र, भूजल दोहन का अनुमति पत्र सहित अन्य दस्तावेज देने होंगे।
लगातार संचालन के लिए- ऑनलाइन आवेदन के साथ ही प्रोजेक्ट में हुए निवेश का सीए से प्रमाणित पत्र, पूर्व में जारी अनुमति पत्र की प्रति के अलावा संबंधित विभागों से आवश्यक एनओसी।
ग्रीन व ऑरेंज श्रेणी में बांटा
ग्रीन श्रेणी में 2500 वर्गमीटर तक क्षेत्रफल पर बने विवाह स्थल, बैंक्केट हॉल जिसकी लागत 5 करोड़ से कम है। इसे १५ साल तक संचालन की अनुमति।
ऑरेंज श्रेणी में .2500 वर्गमीटर से ज्यादा क्षेत्रफल पर संचालित विवाह स्थल, बैंक्केट हॉल जिसकी लागत 5 करोड़ से ज्यादा है। 10 साल तक संचालन की अनुमति। इन दोनों को प्रति वर्ष नवीनीकरण कराना होगा।
-------
एक माह बाद कार्रवाई
प्रदूषण पर प्रभावी नियंत्रण के लिए होटल, मैरिज गार्डन, रेस्टोरेंट बैंक्वेट हाल संचालकों को गाइडलाइन के दायरे में लाए हैं। इनको एक माह में प्रदूषण नियंत्रण उपाय स्थापित करने के साथ संचालन के लिए ऑनलाइन आवेदन करना होगा। ऐसा नहीं करने पर जल अधिनियम 1974 की धारा 33 के तहत सख्त कार्रवाई की जाएगी।
महावीर मेहता, क्षेत्रीय अधिकारी, राजस्थान प्रदूषण नियंत्रण मण्डल भीलवाड़ा
होटल व मैरिज गार्डन को प्रदूषण नियंत्रण मंडल से एक माह में लेनी होगी संचालन की अनुमति
होटल व मैरिज गार्डन को प्रदूषण नियंत्रण मंडल से एक माह में लेनी होगी संचालन की अनुमति

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Video Weather News: कल से प्रदेश में पूरी तरह से सक्रिय होगा पश्चिमी विक्षोभ, होगी बारिशVIDEO: राजस्थान में 24 घंटे के भीतर बारिश का दौर शुरू, शनिवार को 16 जिलों में बारिश, 5 में ओलावृष्टिदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगश्री गणेश से जुड़ा उपाय : जो बनाता है धन लाभ का योग! बस ये एक कार्य करेगा आपकी रुकावटें दूर और दिलाएगा सफलता!पाकिस्तान से राजस्थान में हो रहा गंदा धंधाइन 4 राशि वाले लड़कों की सबसे ज्यादा दीवानी होती हैं लड़कियां, पत्नी के दिल पर करते हैं राजहार्दिक पांड्या ने चुनी ऑलटाइम IPL XI, रोहित शर्मा की जगह इसे बनाया कप्तानName Astrology: अपने लव पार्टनर के लिए बेहद लकी मानी जाती हैं इन नाम वाली लड़कियां
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.