ये कैसे जिलाध्यक्ष, तेरह साल में दूसरी बार घूस लेते धरे गए

राजस्थान पटवार संघ जिला शाखा अध्यक्ष एवं हमीरगढ़ पटवारी सौमित्र दाधीच को भीलवाड़ा एसीबी की विशेष टीम ने शुक्रवार शाम डेढ़ लाख रुपए की घूस लेते धर लिया। आरोपित को शनिवार दोपहर भीलवाड़ा एसीबी कोर्ट में पेश किया जाएगा। दाधीच तेरह साल में दूसरी बार रिश्वत लेते गिरफ्तार हुए है How the District President got caught taking bribe for the second time

By: Narendra Kumar Verma

Published: 07 Mar 2020, 12:46 PM IST

ये कैसे जिलाध्यक्ष, तेरह साल में दूसरी बार घूस लेते धरे गए

भीलवाड़ा। राजस्थान पटवार संघ जिला शाखा अध्यक्ष एवं हमीरगढ़ पटवारी सौमित्र दाधीच को भीलवाड़ा एसीबी की विशेष टीम ने शुक्रवार शाम डेढ़ लाख रुपए की घूस लेते धर लिया। आरोपित को शनिवार दोपहर भीलवाड़ा एसीबी कोर्ट में पेश किया जाएगा। दाधीच तेरह साल में दूसरी बार रिश्वत लेते गिरफ्तार हुए है acb ne kiya bhilwqra m trape

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की विशेष शाखा ने शुक्रवार देर शाम हमीरगढ़ पटवारी को डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ब्रजराज सिंह चारण ने बताया कि हमीरगढ़ के लालसिंह खेड़ा निवासी रामेश्वर लाल सुवालका ने हमीरगढ़ पटवारी सौमित्र दाधीच के खिलाफ शिकायत की। परिवादी का कहना था कि हमीरगढ़ में कृषि भूमि खरीदी थी, उसके भूमि रूपांतरण के लिए हमीरगढ़ पटवार प्रथम में बीस दिन पूर्व फाइल लगाई। पटवारी दाधीच ने भूमि रूपांतरण की एवज में तीन लाख ५१ हजार रुपए मांगे और ये राशि दो किस्तों में लेना तय किया। पहली किश्त के रूप में एक लाख ५१ हजार रुपए देने के लिए उसे शुक्रवार शाम को बुलाया गया। How the District President got caught taking bribe for the second time

सिंह ने बताया कि परिवादी की शिकायत का सत्यापन होने के बाद विशेष टीम गठित की गई। शुक्रवार देर शाम ७.१५ बजे हमीरगढ़-भीलवाड़ा मार्ग के मध्य स्थित शुभ लक्ष्मी फैक्ट्री के पास एक लाख ५१ हजार रुपए की घूस राशि लेने पटवारी दाधीच रोडवेज बस से पहुंचा। यहां पहले से मौजूद परिवादी की कार में बैठा और घूस की राशि ली। इसी दौरान दाधीच को एसीबी निरीक्षक शिव प्रकाश की अगुवाई में मौजूद टीम ने रंगे हाथों गिरफ्तार कर नकदी बरामद कर ली। bhilwara acb

आरोपित दाधीच दूसरी बार घूस लेते हुए पकड़ा गया। वर्ष २००७ में एसीबी ने सवाईपुर क्षेत्र में दाधीच को कृषि भूमि रूपांतरण के ही मामले में १५०० रुपए की घूस लेते गिरफ्तार किया था। दाधीच के खिलाफ आठ साल तक केस चला और बाद में ट्रायल के दौरान आरोप साबित नहीं होने पर वर्ष २०१९ में दोष मुक्त कर दिया। इससे पूर्व २०१५ में दाधीच बहाल हो कर फिर फील्ड में आ गया। दूसरी तरफ एसीबी की जिला टीम ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सौभाग्य सिंह की अगुवाई में दाधीच के भीलवाड़ा में आजादनगर में रामधाम के पीछे स्थित आवास की तलाशी ली, लेकिन यहां कुछ विशेष नहीं मिला।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned