श्राद्ध, फिर अधिकमास में बाजार में गिरावट

नवरात्र से बाजार चलने की उम्मीद

By: Suresh Jain

Published: 16 Sep 2020, 02:01 AM IST

भीलवाड़ा
कोरोना वायरस और देश व दुनिया में लॉकडाउन के चलते आई परेशानी की मार झेल रहे बाजार को अब श्राद्ध पक्ष ने भी प्रभावित कर रखा है। इसके कारण हर तरह के कारोबार में 70 फीसदी गिरावट आई है। कपड़ा, वाहन और सर्राफा बाजार ग्राहकों की कमी से जूझ रहे हैं। नवरात्र में व्यापारियों को कारोबार फिर से पटरी पर लौटने की उम्मीद है। लेकिन श्राद्ध पक्ष के बाद १८ सितम्बर से एक माह का अधिक मास भी बिक्री को प्रभावित करेगा। कारण अधिक मास में भी लोग मांगलिक कार्य नहीं करते। दरअसल कोरोना महामारी फैलने से लोगों में खौफ बना हुआ है। कोरोना से कारोबार और नौकरियों पर भी फर्क पड़ा है। लॉकडाउन और अनलॉक के बाद से बाजार में मंदी का दौर चल रहा है। व्यापारियों के मुताबिक हर तरह के बाजार में 70 फीसदी गिरावट आई है। चाहे कपड़े का कारोबार हो या नए वाहनों की बिक्री अथवा सर्राफा कारोबार सभी मंदी की मार झेल रहे हैं।
नवरात्र में होगी रौनक
सभी की आस नवरात्र से जुड़ी हुई है। कारण यह है कि नवरात्र में शुभ और मांगलिक कार्य शुरू हो जाते हैं। खरीदारी का श्रीगणेश नवरात्र से फिर शुरू हो जाएगा। आगे फिर दशहरा और दिपावली के बाद मांगलिक कार्य शुरू हो जाएंगे। शादी विवाह के लिए लोग बाजारों में आएंगे और खरीदारी करेंगे। व्यापारियों ने बताया पितृ पक्ष के कारण नई वस्तुओं की बिक्री नहीं हो रही है। व्यापारियों को उम्मीद है कि नवरात्र से अच्छे दिन शुरू होंगे। कारोबार की स्थिति बेहतर हो जाएगी। इसी उम्मीद को लेकर सर्राफा व्यापारी व कपड़ा व्यापारी उम्मीद लगाए हुए है। वही शादी समारोह शुरू होने से अन्य कई तरह के बाजार के भी चलने की संभावना है। इसमें मुख्य रूप से शादी समारोह पर रोक लगने से बैंड वादक भी परेशान है वह भी सरकार की नई गाइड लाइन के अनुसार शादी समारोह होने का इंतजार कर रहे है।

Suresh Jain Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned