फायर सेफ्टी नहीं तो सीज हो जाएंगे परिसर

शहर में व्यवसायिक काम्पलेक्स, प्रतिष्ठानों व बहुमंजिला भवनों में आवासीय, वाणिज्यिक, संस्थानिक व मिश्रित उपयोग, औद्योगिक, विशेष प्रकृति के लिए अब स्थानीय निकाय से पहले फायर सेफ्टी की एनओसी लेनी होनी होगी। नगरीय विकास, आवासन एवं स्वायत्त शासन विभाग के २१ जनवरी २०२० के आदेश की पालना में यह सख्ती नगर परिषद ने की है।

By: Narendra Kumar Verma

Published: 16 Oct 2020, 12:55 PM IST

भीलवाड़ा। शहर में व्यवसायिक काम्पलेक्स, प्रतिष्ठानों व बहुमंजिला भवनों में आवासीय, वाणिज्यिक, संस्थानिक व मिश्रित उपयोग, औद्योगिक, विशेष प्रकृति के लिए अब स्थानीय निकाय से पहले फायर सेफ्टी की एनओसी लेनी होनी होगी। नगरीय विकास, आवासन एवं स्वायत्त शासन विभाग के २१ जनवरी २०२० के आदेश की पालना में यह सख्ती नगर परिषद ने की है।

परिषद आयुक्त दुर्गा कुमारी ने गुरुवार को एक आदेश जारी कर उक्त भवनों में उल्लेखित गतिविधियों के लिए फायर सेफ्टी प्रमाण पत्र, फायर एनओसी व तय फायर फाइटिंग सिस्टम नहीं होने पर भवनों व परिसरों को सीज करने के आदेश जारी किए है।
.......................................................................................................................................
दूसरा समाचार...विधिक जागरूकता शिविर
जिला विधिक सेवा प्राधिकरण भीलवाड़ा द्वारा वेबेक्स पोर्टल पर राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरणा(नाल्सा) की 10 योजनाओं के प्रचार-प्रसार के लिए विधिक जागरूकता शिविर के तहत गुरुवार को नालसा(आदिवासियों के अधिकारों के संरक्षण और प्रवर्तन के लिए विधिक सेवाएं) योजना, 2015 विषय पर विधिक शिविर आयोजित किया गया ।

प्राधिकरण सचिव राजीव चौधरी (अपर सेशन न्यायाधीश) ने बताया कि ऑन लाइन शिविर में मुख्य वक्ता मुकेश भार्गव, न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय ने जानकारी दी। इसी प्रकार प्राधिकरण द्वारा म्हारी योजना म्हारा अधिकार अभियान के तहत पंचायत समिति माण्डल की ग्राम पंचायतों में पेनल अधिवक्ता व पैरालिगल वॉलियन्टीयर्स की टीम द्वारा शिविर आयोजित किए गए। इसमें केन्द्र व राज्य सरकार की संचालित की जाने वाली विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओ की जानकारी दी गई।

Narendra Kumar Verma Reporting
और पढ़े

राजस्थान पत्रिका लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned